गणतंत्र दिवस : हर भारतीय को पता होना चाहिए ये बातें

Advertisements

भारत में वर्ष 2018 का गणतंत्र दिवस 26 जनवरी शुक्रवार को मनाया जा रहा है। इस साल 2018 में भारत अपना 69वाँ गणतंत्र दिवस मना रहा है। भारत ने अपना पहला गणतंत्र दिवस 1950 में मनाया था।

गणतंत्र दिवस 2018 के मुख्य अतिथि

भारत गणराज्य दिवस 2018 में मुख्य अतिथि दुनिया के 10 देशों ASEAN राज्यों के प्रमुख) के 10 महान नेता होंगे। नीचे मुख्य अतिथि और उनके राष्ट्रों के नाम की सूची है:

सुल्तान और विद्यमान प्रधान मंत्री, Hassanal Bolkiah – Brunei

प्रधान मंत्री, Hun Sen – Cambodia

राष्ट्रपति, Joko Widodo – Indonesia

प्रधान मंत्री, Thongloun Sisoulith – Laos

प्रधान मंत्री, Najib Razak – Malaysia

राष्ट्रपति, Htin Kyaw – Myanmar

राष्ट्रपति, Rodrigo Roa Duterte – Philippines

इसे भी पढ़ें-  JABALPUR: अंग्रजी पत्रकारिता के सितारे पत्रकार अंशुमान भार्गव का निधन

राष्ट्रपति, Halimah Yacob – Singapore

प्रधान मंत्री, Prayuth Chan-ocha – Thailand

प्रधान मंत्री, Nguyễn Xuân Phúc – Vietnam

 

क्या विशेष है गणतंत्र दिवस 2018 पर:

गणतंत्र दिवस 2018 की निम्नलिखित विशेषताएं हैं:

भारत, गणतंत्र दिवस 2018 को सभी 10 ASEAN देशों (दक्षिण पूर्व एशियाई राष्ट्र) के महान नेताओं के साथ मनाएगा। इस वर्ष 2018 में, भारतीय इतिहास में पहली बार ऐसा हो रहा है कि 10 मुख्य अतिथि भारत गणतंत्र दिवस पर शामिल होने जा रहे है। यह साल बहुत खास है क्योंकि दक्षिण पूर्व एशियाई समूह ने इस साल अपने 50 वर्षों के गठन (8 अगस्त 1967) को पूरा कर लिया और भारत ने 2017 में इस समूह के साथ अपने 25 सालों की साझेदारी (1992 में शुरू हुई) पूरी की।

इसे भी पढ़ें-  EOW Raid : लेखापाल के निवास पर ईओडब्ल्यू का छापा, कराेड़ाें की संपत्ति के दस्तावेज मिले

ऐसा पहली बार है कि राजपथ पर दक्षिण पूर्व एशियाई देशों के झंडे भी प्रदर्शित किए जाएंगे।

प्रधान मंत्री के हर महीने का प्रोग्राम “मन की बात” को प्रदर्शित करने के लिए “ऑल इंडिया रेडियो” को एक झांकी द्वारा प्रदर्शित किया जायेगा।

आयकर विभाग द्वारा एक झांकी “ब्लैक मनी ड्राइव” को प्रदर्शित करने के लिए होगा।

113 बीएसएफ महिलाएं मोटरसाइकिल स्टंट जैसे पिरामिड, शक्तिमान, फिश राइडिंग, सीमा प्रहरी, बुल फाइटिंग इत्यादि का प्रदर्शन करेंगी।

एयरक्राफ्ट कैरियर (आईएसी) विक्रांत को भारतीय नौसेना द्वारा प्रदर्शित किया जा रहा है जो 2020 में शुरू किया जाएगा।

“निर्भय मिसाइल” और “अश्विनी रडार सिस्टम”, रक्षा विकास और अनुसंधान संगठन द्वारा प्रदर्शित की जाएगी।

इसे भी पढ़ें-  समीर वानखेड़े की पत्नी का आरोपों पर पलटवार: क्रांति रेडकर ने कहा- हमें लटकाने, जलाकर मार देने की धमकियां मिल रही हैं

“एयरबोर्न अर्ली वॉर्निंग एंड कंट्रोल सिस्टम (नेत्रा) राजपथ पर प्रदर्शित किया जाएगा।

दिल्ली स्कूल के छात्रों का एक समूह भारत-ASEAN संबंधों को प्रदर्शित करेगा।

अतिथि देशों के लगभग 700 छात्र (भारतीय सेना, वायु सेना और नौसेना के अलावा) परेड में प्रदर्शन करेंगे।

पंजाब की झांकी का थीम होगा “संगत और पंगत” (संगत का अर्थ सांप्रदायिक सौहार्द्र; पंगत का अर्थ है समुदाय रसोई), जो की मानवता के लिए प्रेम को प्रदर्शित करेगा।

मलेशिया, कंबोडिया, और थाईलैंड जैसे कई देशों के कथक और फोक नृत्य को प्रदर्शित किया जायेगा।

लगभग 61 आदिवासी अतिथियों को गणतंत्र दिवस समारोह में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया गया है।

Advertisements