katniLatest

सिंधी साहित्य सभा राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में सिन्धी अज़रक टोपी से 8 प्रतिभाओं को मिला सम्मान

सिंधी साहित्य सभा राष्ट्रीय पुरस्कार समारोह में सिन्धी अज़रक टोपी से 8 प्रतिभाओं को मिला सम्मान

कटनी। अखिल भारत सिंधी बोली साहित्य सभा का वार्षिक समारोह इंदौर की सिंधू मुहिंजी जीजल संस्था के सहयोग से इंदौर अभिनव कला समाज गांधी हाल परिसर के स्टेट प्रेस क्लब सभाकक्ष में 19 मई को संपन्न हुआ।

इन्दौर के चित्रकार और मूर्तिशिल्पी महेन्द्र कोडवाणी और साहित्यकार रश्मि रामाणी भी सम्मानित

राष्ट्रभाषा, व्यवहार भाषा के साथ मातृ भाषा के प्रति प्रेम आवश्यक, खेल की तरह सतत साधना भी जरूरी : नरेंद्र हिरवाणी

अर्थ उपार्जन में लोक कला साहित्य खो गया : लालवानी

सात दशक में सिंधी लोक, शिल्प, हस्तकला, वस्त्र कला से अनभिज्ञ हो गया समाज : किशोर कोडवानी

अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर शल नरेंद्र दीपचंद हिरवाणी ने कहा कि राष्ट्रभाषा,व्यवहार भाषा के साथ ही प्रत्येक नागरिक द्वारा मातृभाषा का सम्मान आवश्यक है। इसके लिए खेल के समान सतत साधना करना होगी सांसद शंकर लालवानी ने कहा कि सरकार व समाज को मिलकर काम करना होगा। अकादमियां तो सरकार ने बनाई पर समाज पाठक वर्ग नहीं पैदा कर पाया

जीजल संस्था के प्रमुख और कार्यक्रम संयोजक किशोर कोडवानी ने विषय प्रवर्तन करते बताया सिंध से प्रारंभ हुई कलाओं जैसे मध्यप्रदेश की पहचान बाघ प्रिन्ट, राजस्थान की पहचान बुटीक, बंधेज़ कला को समाज से परे कर दिया गया है। हस्तकला, हुरमुचो, नृत्य कला छेज, झुमिर, होजमालो, भगत लुप्त होने के कगार पर पहुंच दी गई है।कार्यक्रम में साहित्य, चित्रकला मूर्ति शिल्प,संगीत, शास्त्रीय नृत्य के क्षेत्र में अमूल्य योगदान देने वाली सिंधी भाषी विभूतियों को सम्मानित किया गया।

सिंधी लोक कथा गायन शैली “भगत” के कलाकार लवि कमल भगत ,अजमेर की प्रस्तुति के साथ ही सिंधी भाषा में हास्य नाटक खबर न चार मोबाइल जी मार का मंचन इंदौर के नमोश तलरेजा और विनीता मोटलाणी की टीम ने किया। दिल्ली से आई काव्या और प्रेरणा नावाणी ने भरतनाट्यम की प्रस्तुति दीकार्यक्रम का संचालन यूथ चेयरमैन अशोक मनवाणी ने किया।

सिंधी साहित्य सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष शंभू जयसिंघानी धीरज नावानी, कैलाश बालानी उपाध्यक्ष नई दिल्ली सचिव हरीश लालवानी, दिल्ली और सभा के एजुकेशनल चेयरमैन  जेठानंद लालवाणी अहमदाबाद के अलावा  चंदर लालचंदाणी  जगदीश साहिता भोपाल, सतीश कुमार डोडेजा इंदौर, श्री संजय खूबचंदाणी कटनी भी उपस्थित थे।

इन्हें मिला सम्मान

साहित्य अवार्ड: श्री प्रो अर्जुन चावला ,अलीगढ़ (उत्तर प्रदेश), भाषा संवर्धन अवार्ड: श्रीमती रश्मि रामानी इंदौर (मध्य प्रदेश), मूर्ति शिल्प और चित्रकला अवार्ड महेंद्र कोडवानी, इंदौर (मध्य प्रदेश), सिंधी सोशल मीडिया वार्ड: अशोक छाबड़िया, भोपाल ( मध्य प्रदेश), नृत्य कला अवार्ड: प्रेरणा और काव्या नावानी, नई दिल्ली, फनकार अवार्ड : श्री लवि कमल भगत, अजमेर (राजस्थान),अदीब अवार्ड : फिल्म और नाटक लेखक मुरलीधर बलवानी ,भोपाल (मध्य प्रदेश)

दो दिवंगत साहित्यकारों को श्रद्धांजलि

समारोह में सिंधी साहित्य सभा के पदाधिकारी गण ने इस संस्था के सांस्कृतिक अध्यक्ष श्री चंदर सावनाणी , अहमदाबाद और श्रीमती शोभा लालचंदानी, मुंबई के अवसान पर शोक व्यक्त किया और उनके योगदान का स्मरण किया। दोनों साहित्यकारों का हाल ही में निधन हुआ है।

पुस्तकों का विमोचन

समारोह में ऋतु भटिया, अहमदाबाद की पुस्तक मुंहिंजी सिंध यात्रा, श्री तारा लालवानी,इंदौर के काव्य संग्रह “देर करेगा दर्द सहेगा” श्री अमर गोपलानी ,इंदौर के हिंदी उपन्यास सजा, डॉ जेठो लालवानी अहमदाबाद की पुस्तक “वतन जे सदके” का विमोचन अतिथियों द्वारा किया गया। इसके साथ ही “झूलेलाल साईं जो चरित्र” स्मारिका जो एकता ग्रुप द्वारा प्रकाशित की गई है उसका विमोचन भी अतिथियों ने किया। इस अवसर पर श्री लालचंद वाधवाणी और श्री मनीष राजाणी उपस्थित थे।

Back to top button