Latest

सुरक्षा में चूक पर हंगामा, TMC राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ’ब्रायन पूरे सत्र के लिए निलंबित

सुरक्षा में चूक पर हंगामा, TMC राज्यसभा सदस्य डेरेक ओ’ब्रायन पूरे सत्र के लिए निलंबित, देखिए वीडियो। संसद भवन की सुरक्षा में चूक के बाद से जांच एजेंसियां अलर्ट मोड पर हैं। बुधवार दोपहर हुए इस सनसनीखेज घटनाक्रम में कुछ 6 आरोपियों की पहचान हुई है, जिनमें से 5 को गिरफ्तार कर लिया गया है।

छठे की तलाश जारी है। दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने यूएपीए धारा के तहत मामला दर्ज किया है. जांच चल रही है। इस बीच, गुरुवार को इस मुद्दे पर संसद में हंगामा हुआ। विपक्ष की मांग है कि इस पर पीएम मोदी या गृह मंत्री जवाब दें। इस बीच, माना जा रहा है कि इस घटना के तार कुछ ज्यादा लंबे हो सकते हैं।

लोकसभा सुरक्षा चूक मामले में राज्यसभा में भी हंगामा हुआ। इस दौरान असंसदीय बर्ताव के चलते डेरेक ओ’ब्रायन को राज्यसभा से निलंबित कर दिया गया। सदन के सभापति के साथ उनकी झड़प हुई थी।

 

विपक्ष ने मांगा गृह मंत्री का इस्तीफा, लोकसभा 2 बजे तक स्थगित

लोकसभा में विपक्ष ने भारी हंगामा किया। इस दौरान सरकार की ओर से राजनाथ सिंह ने स्पष्ट किया कि मामले की जांच की जा रही है। ऐसे में हंगामा ठीक नहीं है। सभी को मिलकर घटना की निंदा करना चाहिए। इसके बाद भी हंगामा जारी रहा, जिसके बाद लोकसभा की कार्यवाही 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दी गई। इसी तरह राज्यसभा की कार्यवाही भी बाधित हुई।

वीडियो: केवल सांसदों को प्रवेश

13 दिसंबर के सुरक्षा उल्लंघन के बाद केवल सांसदों को संसद भवन के मकर द्वार से प्रवेश दिया जा रहा है। मीडिया की तैनाती भी अब वहां से कुछ मीटर की दूरी पर है।

Parliament Security Breach: संसद की सुरक्षा में चूक के बाद उज्जैन के महाकाल मंदिर में चौकसी बढ़ाई
पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Parliament LIVE: सात सुरक्षाकर्मी निलंबित
लोकसभा सचिवालय ने सुरक्षा चूक की घटना के लिए सात कर्मियों को निलंबित कर दिया है।

सुरक्षा में चूक को लेकर गुरुवार को सदन में हंगामा हुआ। जैसे ही कार्यवाही शुरू हुई, विपक्षी सांसद लोकसभा में हंगामा करने लगे।

इस पर स्पीकर लोकसभा स्पीकर ने कहा कि जांच के आदेश दिए गए हैं। हंगामा ठीक नहीं है।
राजनाथ सिंह ने कहा कि जो हुआ, वो दुर्भाग्यपूर्ण है। इस दौरान विपक्षी सदस्य शेम-शेम के नारे लगाते रहे।

Parliament LIVE: आम जनता का गुस्सा संसद तक आया: अधीर रंजन

लोकसभा में विपक्ष के नेता अधीर रंजन चौधरी ने इस मुद्दे पर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश की है। अधीर रंजन ने कहा है कि यह जनता का सरकार के खिलाफ गुस्सा है जो संसद तक आ पहुंचा है। पीएम मोदी सिर्फ बातें करते हैं, वो सांसदों को सुरक्षा प्रदान नहीं कर सके। पीएम मोदी को इस सुरक्षा चूक पर संसद में बयान देना चाहिए।

Parliament Security Breach: मुख्य आरोपी कोई और
समाचार एजेंसी पीटीआई ने दिल्ली पुलिस के सूत्रों के हवाले से बताया है कि संसद भवन में दहशत फैलाने की साजिश के पीछे मुख्य आरोपी कोई और है। जांच जारी है और जल्द ही इसका खुलासा हो जाएगा।

Parliament Winter Session: पिता बोला- दोषी है तो फांसी दे दो

आरोपियों में शामिल मनोरंजन मैसूर का रहने वाला है और इंजीनियरिंग का छात्र है। पिता खेती करते हैं। मनोरंजन खेती में उनका हाथ बंटाता है। मामला सामने आने के बाद पिता दुखी हैं। उनका कहना है कि यदि उनका बेटा दोषी पाया जाता है तो उसे फांसी दे दी जाए।

मैं 15 साल से मैसूर में रह रहा हूं। मनोरंजन ने अपनी पूरी पढ़ाई यहां की है। वह अच्छा लड़का है। उनका इरादा बुरा नहीं है। उसका किसी राजनीतिक पार्टी से संबंध नहीं है। उसने जो कुछ भी किया है, वह निंदनीय है। अगर कुछ गलत किया है तो उसे फांसी पर लटका दो। – देवराजे गौड़ा, आरोपी मनोरंजन के पिता

Parliament Winter Session: आज हंगामे के आसार

सुरक्षा में चूक के मामले पर संसद में आज भी हंगामे के आसार है। इसी मुद्दे पर विपक्षी दलों के गठबंधन INDIA ने बैठक बुलाई है। हालांकि मामले की जांच के आदेश दिए गए हैं। इस पर बुधवार शाम को भी लोकसभा स्पीकर के साथ सांसदों की बैठक हुई थी। जिसके बाद लोकसभा सचिवालय के अनुरोध पर केंद्रीय गृह मंत्रालय ने घटना की जांच के आदेश दे दिए हैं। सीआरपीएफ के महानिदेशक (डीजी) अनीश दयाल सिंह की अध्यक्षता वाली जांच समिति में अन्य सुरक्षा एजेंसियों के सदस्य और विशेषज्ञ भी शामिल होंगे।

Parliament Security Breach: ललित झा की तलाश जारी

घटना को अंजाम देने वालों में छठा आरोपी ललिता झा भी शामिल था। यह अभी फरार है। इसने बाहर हंगामा कर रहे अमोल और नीलम के वीडियो बनाकर इंस्टाग्राम पर अपलोड किए। (फोटो- नीलम)class=lazy

Parliament Security Breach: पांच गिरफ्तार, छठे आरोपी की तलाश जारी

पूरी घटना को बहुत ही योजनाबद्ध तरीके से अंजाम दिया गया।
सागर शर्मा और मनोरंजन डी. सदन के भीतर कूदे और जूतों में छिपाकर ले जाए गए कलर स्मोक क्रैकर के जरिये हल्के पीले रंग का धुआं उड़ाया।
उसी समय संसद भवन की बाउंड्री के ठीक बाहर परिवहन भवन के सामने अमोल शिदे और नीलम ने नारेबाजी के साथ लगभग वैसा ही रंगीन धुआं उड़ाया।
ललिता झा ने इनके वीडियो बनाए और सोशल मीडिया पर प्रसारित किए।
संसद आने से पहले ये पांचों आरोपी गुरुग्राम में विक्रम के घर पर रुके थे।
पुलिस ने विक्रम और उसकी पत्नी को भी हिरासत में लिया है।

संसद भवन में हंगामा करने वाले आरोपियों में से एक अमोल ने बताया कि वे लोग किसानों के विरोध प्रदर्शन, मणिपुर संकट, बेरोजगारी जैसे मुद्दों से नाराज थे, इसीलिए उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया।

Back to top button