FEATUREDkatni

बैंक स्वरोजगार योजनाओं के वितरण कार्य में तेजी लायें -अवि‍ प्रसाद

bank self employment: बैंक स्वरोजगार योजनाओं के वितरण कार्य में तेजी लायें । कलेक्टर अवि प्रसाद की अध्यक्षता में शुक्रवार को आयोजित जिला स्तरीय परामर्शदात्री समिति की बैठक में स्वीकृत स्वरोजगार योजनाओं के मामले मं लक्ष्य के अनुरूप ऋण एवं अनुदान वितरण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए। साथ ही राजस्व वसूली के प्रकरणों मं बैंकों द्वारा ब्रिस्क योजना के मामले में वांछित प्रगति नहीं होने पर कलेक्टर ने नाराजगी जाहिर की।

जिला स्तरीय परामर्शदात्री समिति की बैठक में कलेकटर ने दिए निर्देश

बैठक मे अपर कलेक्टर साधना परस्ते, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के एल.डी.ओ अक्षय गुप्ता, एल.डी एम मेझरस किंडो, नाबार्ड के डी.डी.एम विकास जैन, महाप्रबंधक उद्योग ज्योति सिंह, जिला संयोजक आदिम जाति कल्याण पूजा द्विवेदी, उपसंचालक पशु चिकित्सा डॉ आर.के. सिह, सहायक प्रबंधक राजेश पटेल सहित बैंकर्स मौजूद रहे।

बैठक में कलेक्टर ने 15 दिवस के अंदर सभी स्वरोजगार योजनाओं में प्रगति लाने के निर्देश दिए। उन्होंने बैंको द्वारा शासन की प्राथमिकता वाली प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना, मुद्रा योजना के प्रकरणों में बैंकों द्वारा विशेषकर केनरा बैंक द्वारा रूचि नहीं लिये जाने पर गहन नाराजगी व्यक्त की। बैठक में बताया गया कि उद्यम क्रांति योजना के लाभार्थियों का विवरण भी पोर्टल में बैंक द्वारा नहीं दर्ज कराया गया।

इसी प्रकार केनरा बैंक कटनी द्वारा मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत अनुसूचित जाति के 43 हितग्राहियों का 2014-15 से 2019 – 20 तक का आदिम जाति कल्याण विभाग द्वारा केनरा बैंक को 26 लाख रूपये की अनुदान राशि स्वीकृत करने के बाद भी हितग्राहियों को वितरित नहीं करने के मामले पर कलेक्टर ने गहन असंतोष व्यक्त किया। जिला संयोजक पूजा द्विवेदी ने बताया कि केनरा बैंक द्वारा 26 लाख रूपये के विरूद्ध अभी तक मात्र 10 हितग्राहियों को करीब 4.50 लाख रूपये के अनुदान वितरित होने की ही जानकारी तो दी जा रही है लेकिन लिखित मे हिसाब का विवरण बार- बार पत्राचार के बाद भी केनरा बैंक द्वारा नहीं दिया जा रहा है।

बैठक मे यह मामला संज्ञान में आने पर कलेक्टर श्री प्रसाद ने केनरा बैंक को प्रदान की गई राशि और हितग्राहियों को स्वीकृत और वितरण की जानकारी मुहैया कराने बैंक के रीजनल मैनेजर को पत्र लिखने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने निर्देशित किया कि यदि 15 दिवस के भीतर रीजनल मैनेजर द्वारा इस मामले मे तथ्यपरक जानकारी नहीं दी जाती है तो रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया के भोपाल प्रतिनिधि को भी पत्र लिखकर केनरा बैंक की गतिविधि की जानकारी दी जाये।

Back to top button