katniLatestराष्ट्रीय

निजी कंपनी के अधिकारियों की लापरवाही से खराब हुई थी 7 करोड़ की धान

कटनी। बड़वारा थाना अंतर्गत ग्राम मझगवां स्थित ओपन कैप में 7 करोड़ की धान खराब होने के मामले में पुलिस ने ओपन कैप संचालक कंपनी के चार अधिकारियों के विरूद्ध कार्रवाई की है।

एमएस ग्रो ग्रेन प्राइवेट लिमिटेड के चार अधिकारियों पर एफआइआर दर्ज

मध्यप्रदेश सरकार द्वारा किसानों से खरीद कर यहां रखी गई सात करोड़ की धान मौसम की मार से बर्बाद हो गई थी। ओपन कैप में रखी धान के बर्बाद होने की वजह उचित रखरखाव का न होना माना जा रहा है।

धान बर्बाद हो जाने के बाद मध्य प्रदेश वेयरहाउसिंग एवं लॉजिस्टिक कार्पोरेशन कटनी के जिला प्रबंधक योगेंद्र सिंह सेंगर की शिकायत पर बड़वारा पुलिस ने ओपन कैप संचालक कंपनी के चार अधिकारियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।

पूरे प्रकरण के संबंध में जानकारी देते हुए बड़वारा थाना प्रभारी अनिल यादव ने बताया कि बड़वारा थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले मझगवां वेयर हाउस में मध्य प्रदेश सरकार द्वारा खरीदी गई धान को ओपन कैप में रखा गया था। ओपन कैप का संचालन एमएस ग्रो ग्रेन प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के द्वारा किया जा रहा था। बीते दिनों मध्य प्रदेश वेयरहाउसिंग एवं लॉजिस्टिक कार्पोरेशन कटनी के जिला प्रबंधक योगेंद्र सिंह सेंगर ने एक लिखित शिकायती पत्र थाने में दिया था।

शिकायत पत्र में कहा गया था कि कंपनी अधिकारियों की लापरवाही के कारण ओपन कैप में रखी लगभग 7 करोड रुपए कीमती 2706 मेट्रिक टन धान पूरी तरह नष्ट हो गई। प्रकरण की जांच के उपरांत एमएस ग्रो ग्रेन प्राइवेट लिमिटेड के सीईओ संतोष साहू, स्टेट हेड सौरभ मालवीय, कंपनी एडवाइजर अखिलेश बिसेन एवं ओपन कैप सुपरवाइजर संजू रजक के खिलाफ धारा 409, 120, 427 के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। प्रकरण दर्ज कर पुलिस के द्वारा जांच की जा रही है।

Back to top button