katni

कलेक्टर अवि‍ प्रसाद ने ईमलिया वॉटर प्‍लांट का लिया जायजा, खदान से कुंदनदास स्कूल तक 3600 मीटर पाईपलाईन विस्तार का कार्य पूर्ण

कटनी । कलेक्टर अवि‍ प्रसाद ने ईमलिया वॉटर प्‍लांट का लिया जायजा, खदान से कुंदनदास स्कूल तक 3600 मीटर पाईपलाईन विस्तार का कार्य पूर्ण हुआ।कलेक्टर श्री अवि प्रसाद ने बुधवार को ईमलिया खदान पहुंचकर यहां के पानी को फिल्टर प्लांट तक पहुंचाने हेतु जारी कार्य की प्रगति का जायजा लिया। ईमलिया खदान से नगर निगम क्षेत्र की जलापूर्ति समस्या के निराकरण हेतु 2.01 करोड़ रूपये की लागत से स्वीकृत प्रोजेक्ट के माध्यम से नगर में सुगम पेयजल आपूर्ति के लिए जरूरी कार्य प्रगतिरत है। निरीक्षण के मौके पर निगमायुक्त श्री विनोद कुमार शुक्ल मौजूद रहे।

कलेक्टर श्री प्रसाद को निरीक्षण के दौरान बताया गया कि स्वीकृत प्रोजेक्ट के तहत माधवनगर में 2 एम.एल.डी. क्षमता का फिल्टर प्लांट स्थापित कर ईमलिया खदान से माधवनगर नगर उपकार्यालय तक 4 किलोमीटर की पाईपलाईन का विस्तार कार्य किया जायेगा। कलेक्टर ने पेयजल आपूर्ति हेतु जारी इस कार्य में तेजी लाने के निर्देश मौके पर मौजूद अधिकारियों को दिए।

कलेक्टर श्री प्रसाद को बताया गया कि स्वीकृत प्रोजेक्ट के तहत ईमलिया खदान से कुंदनदास स्कूल तक लगभग 3600 मीटर पाईपलाईन 280 एम.एम डाया एच.डी.पी.ई के विस्तार का कार्य पूर्ण किया जा चुका है और इन्हे ईमलिया खदान सहित अन्य खदानों से फिल्टर प्लांट जानें वाली पाईपलाईप से जोडा भी जा चुका है।

योजना के तहत वॉल एवं रोड रेस्टोरेशन का कार्य पूर्ण करा दिया गया है तथा चेंबर एवं फ्लोटिंग फाउंटेन सबमर्शिबल पंप का कार्य प्रगतिरत है। कलेक्टर अवि प्रसाद ने शेष कार्य को शीध्रातिशीध्र गुणवत्तापूर्ण तरीके से पूर्ण करनें के निर्देश दिए।

उल्लेखनीय है कि नगर निगम सीमान्तर्गत जलापूर्ति की समस्या के निराकरण विशेषकर ग्रीष्म ऋतु मे होने वाले जल संकट को दूर करने के लिए पेयजल आपूर्ति के वैकल्पिक जलस्रोतों से माधवनगर में 2 एम.एल.डी क्षमता का फिल्टर प्लांट स्थापित कर पानी फिल्टर उपरांत प्रदाय किया जायेगा। योजना के तहत आवश्यकता पड़ने पर नगर की जलापूर्ति हेतु इस प्रोजेक्ट के माध्यम से पाईपलाईन से जोडकर खदान का रॉ वाटर अमकुही स्थित फिल्टर प्लांट में भेजने तथा फिल्टर उपरांत नगर में पेयजल आपूर्ति करने एवं वर्षा ऋतु के दौरान कटनी नदी से बहनें वाले अतिरिक्त वर्षाजल को पुनः पाईपलाईन के माध्यम से खदानों में सहेजनें का कार्य किया जायेगा।

निरीक्षण के दौरान सहायक यंत्री सुधीर मिश्रा, अश्विनी पाण्डेय, उपयंत्री मृदृल श्रीवास्तव, प्रशांत जैन एम.पी.यू.डी.सी सहित अन्य अधिकारियों की उपस्थिति रही।

 

Back to top button