शानदार जीत के साथ भारत ICC रैंकिंग में फिर नंबर वन

नागपुर। रोहित शर्मा के धमाकेदार शतक (125) से भारत ने रविवार को पांचवें और अंतिम वनडे में ऑस्ट्रेलिया को 7 विकेट से हराया। भारत इसी के साथ आईसीसी रैंकिंग में फिर नंबर वन बन गया। ऑस्ट्रेलिया ने 9 विकेट पर 242 रन बनाए। जवाब में भारत ने 42.5 अोवरों में 3 विकेट खोकर लक्ष्य हासिल कर लिया। भारत ने इसी के साथ पांच मैचों की सीरीज पर 4-1 से कब्जा जमाया। भारत ने पहली बार ऑस्ट्रेलिया से किसी एक वनडे सीरीज में चार मैच जीते। रोहित शर्मा को मैन ऑफ द मैच और हार्दिक पांड्‍या को मैन ऑफ द सीरीज चुना गया।

इस जीत के साथ ही भारतीय टीम 120 अंकों के साथ आईसीसी रैंकिंग में नंबर वन बन गई। बेंगलुरू वनडे में हार के साथ टीम इंडिया ने शीर्ष स्थान गंवाया था। दक्षिण अफ्रीका 119 अंकों के साथ दूसरे स्थान पर है। इसके बाद ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड 114-114 अंकों के साथ क्रमश: तीसरे और चौथे क्रम पर हैं।

india cricket

फॉर्म में चल रहे रहाणे और रोहित ने लक्ष्य का पीछा कर रहे भारत को ठोस शुरुआत दिलाई। रोहित शुरू में दबकर खेल रहे थे, लेकिन बाद में उन्होंने 52 गेंदों में फिफ्टी पूरी की। रहाणे ने फॉकनर की गेंद पर चौका लगाते हुए सीरीज में लगातार चौथी फिफ्टी पूरी की। ऑस्ट्रेलिया को पहली सफलता नाइल ने दिलाई जब उन्होंने रहाणे को एलबीडब्ल्यू किया। रहाणे (61) ने रोहित के साथ पहले विकेट के लिए 124 रन जोड़े।रोहित का दमदार प्रदर्शन जारी रहा और उन्होंने नाइल की गेंद पर छक्का लगाते हुए शतक पूरा किया। वे 94 गेंदों में 10 चौकों और 3 छक्कों की मदद से इस मंजिल तक पहुंचे। यह उनका ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ छठा और कुल 14वां शतक हैं। जाम्पा ने एक अोवर में रोहित दो विकेट लिए, लेकिन तब तक बहुत देर हो चुकी थी। रोहित 109 गेंदों में 11 चौकों और 5 छक्कों की मदद से 125 रन बनाकर जाम्पा की गेंद पर डीप मिडविकेट पर नाइल को कैच थमा बैठे। विराट कोहली (39) भी इसी अोवर में चलते बने। इसके बाद मनीष पांडे (11 नाबाद) और केदार जाधव (5 नाबाद) ने जीत की औपचारिकताएं पूरी की।

इससे पहले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान स्टीव स्मिथ ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया। एरोन फिंच और डेविड वॉर्नर ने ऑस्ट्रेलिया को तेज शुरुआत दिलाते हुए पहले विकेट के लिए 66 रन जोड़े। इस साझेदारी को हार्दिक पांड्‍या ने तोड़ा जब उन्होंने फिंच (32) को मिडऑफ पर झिलवाया। इसके बाद टीम को स्मिथ से कप्तानी पारी की उम्मीद थी, लेकिन वे मात्र 16 रन बनाकर पार्टटाइम गेंदबाज केदार जाधव के शिकार बने। पिछले मैच के शतकवीर वॉर्नर ने फिफ्टी पूरी की, लेकिन वे इसके बाद क्रीज पर ज्यादा टिक नहीं पाए। वे 53 रन बनाकर अक्षर पटेल की गेंद पर लांग ऑन पर पांडे को कैच थमा बैठे।

अभी मेहमान टीम इस सदमे से उबरी भी नहीं थी कि हैंड्‍सकॉम्ब (13) ने अक्षर पटेल की गेंद को हवा में खेला और रहाणे ने स्लिप से पीछे की तरफ भागते हुए कैच लपका। कंगारू टीम 118 रनों पर 4 विकेट खोकर संघर्षरत नजर आई। इसके बाद स्टोनिस और हेड ने समझदारीपूर्वक बल्लेबाजी करते हुए 87 रनों भागीदारी कर टीम को संभाला। अक्षर ने इस साझेदारी को तोड़ा जब उन्होंने ट्रेविस हेड (42) को बोल्ड किया। इसके तुरंत बाद बुमराह ने मार्कस स्टोनिस (46) को एलबीडब्ल्यू कर मेहमान टीम की रनगति पर अंकुश लगा दिया। बुमराह ने वेड (20) के रूप में दूसरा शिकार किया। अंतिम अोवर में जेम्स फॉकनर (12) रन आउट हुए जबकि भुवी ने नाथन कोल्टर नाइल को बोल्ड किया। अक्षर पटेल ने 38 रनों पर 3 विकेट लिए जबकि बुमराह ने 51 रनों पर 2 विकेट हासिल किए। भुवी, पांड्‍या और जाधव को 1-1 विकेट मिला।

भारत की निगाहें इस मैच को जीतकर आईसीसी वनडे रैंकिंग में फिर शीर्ष स्थान हासिल करने पर टिकी रहेगी।भारत ने मैच के लिए प्लेइंग इलेेवन में तीन बदलाव किए। उमेश यादव, मोहम्मद शमी और युजवेंद्र चहल की जगह जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार और कुलदीप यादव को शामिल किया गया। ऑस्ट्रेलिया ने एक बदलाव कर बीमार केन रिचर्डसन की जगह जेम्स कॉकनर को मौका दिया।

भारत ने शुरू के तीन मैच जीतकर सीरीज में अपराजेय बढ़त बना ली थी, लेकिन ऑस्ट्रेलिया ने बेंगलुरू में चौथे मैच में जीत दर्ज कर सीरीज में थोड़ा रोमांच पैदा किया था। डेविड वॉर्नर और एरोन फिंच के बीच हुई दोहरी शतकीय साझेदारी की मदद से ऑस्ट्रेलिया इस दौरे पर पहला मैच जीतने में सफल हुआ था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *