जम्मू-कश्मीर पहुंची रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, सर्जिकल स्ट्राइक का एक साल पूरा

नई दिल्ली। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण शुक्रवार 29 सितंबर को जम्मू-कश्मीर के दो दिवसीय दौरे पर श्रीनगर पहुंच गई हैं। रक्षामंत्री बनने के बाद यह उनका पहला कश्मीर दौरा है, जो पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में सेना की सर्जिकल स्ट्राइक का एक साल पूरा होने के मौके पर हुआ है।

ओल्ड एयरफील्ड पर नॉर्दन आर्मी कमांडर और चिनार कॉर्प्स कमांडर ने श्रीनगर में उनकी अगवानी की। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण के साथ थलसेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी पहुंचे हैं। श्रीनगर पहुंचने के बाद रक्षा मंत्री बादामी बाग स्थित चिनार कोर मुख्यालय में वरिष्ठ सैन्य अधिकारियों के साथ बैठक करेंगी।

वह कुछ अग्रिम इलाकों का दौरा करने के साथ दक्षिण कश्मीर के विक्टर फोर्स मुख्यालय भी जा सकती हैं, लेकिन यह कार्यक्रम अभी तय नहीं है।

सूत्रों ने बताया कि रक्षा मंत्री दुनिया के सबसे ऊंचे युद्धक्षेत्र सियाचिन भी जाएंगी। वह सेना द्वारा सर्जिकल स्ट्राइक का एक साल पूरा होने के मौके पर आयोजित किए जाने वाले एक विशेष समारोह में हिस्सा लेकर जवानों का मनोबल भी बढ़ाएंगी।

दिल्ली में लाइव देखी जा रही थी सर्जिकल स्ट्राइक

इसे भी पढ़ें-  बिना सब्सिडी वाला LPG सिलिंडर 93 रुपए और सब्सिडी वाला 4.56 रुपए महंगा

पिछले साल 28-29 सितंबर की रात में पाकिस्तान में घुसकर आतंकी शिविरों को तबाह करने वाली सर्जिकल स्ट्राइक के इंचार्ज रहे ले. जनरल (रि.) डीएस हुड्डा ने कहा है कि सारे ऑपरेशन को दिल्ली व ऊधमपुर में लाइव देखा जा रहा था। हालांकि, उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें नहीं पता कि दिल्ली में कौन इस पर नजर रख रहा था, लेकिन लाइव फोटो व वीडियो दिल्ली जा रहे थे।

गौरतलब है कि अलकायदा सरगना ओसामा बिन लादेन को मारने के लिए अमेरिकी कार्रवाई को इसी तर्ज पर वाशिंगटन में तत्कालीन राष्ट्रपति बराक ओबामा, विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन व शीर्ष अधिकारी लाइव देख रहे थे। पाकिस्तान के एबटाबाद में ओसामा को मार गिराया गया था।

भारतीय सेना की तरफ से पाकिस्तान में की गई सर्जिकल स्ट्राइक की पूरी कहानी सेना के रिटायर्ड ले. जनरल डीएस हुड्डा ने एक चैनल पर बयान की है। भारतीय सेना ने पिछले साल यह सर्जिकल स्ट्राइक की थी, जिसमें टेररिस्ट लांच पैड को निशाना बनाया गया था। उस समय वह उत्तरी कमान के प्रमुख थे।

इसे भी पढ़ें-  LIVE: बीजेपी को हराने का कांग्रेस में दम नहीं : शाह

हुड्डा ने बताया कि 18 सितंबर को उड़ी में 18 जवान शहीद हो गए थे। इससे हमें काफी धक्का लगा था। हमें काफी नुकसान हुआ था। सेना और सरकार की तरफ से यह फैसला ले लिया गया कि इसका जवाब देना जरूरी है। वह खुद ऊधमपुर के सैन्य मुख्यालय में बैठकर सारी कार्रवाई को लाइव देख रहे थे। उनका कहना है कि हमारे टारगेट भी टेररिस्ट लांच पैड थे। हमारी टीमों ने पीर पंजाल और कश्मीर रीजन में मल्टीपल टारगेट को ध्वस्त किया।

उन्होंने बताया कि वापस आने के लिए अलग रूट का इस्तेमाल किया गया। एक टीम में 30 से 35 लोग थे। एक टीम को एक टारगेट दिया गया था। बगैर खरोंच लगे हमारे सभी जवान सर्जिकल स्ट्राइक के बाद वापस लौट आए। यह बड़ी बात है।

सर्जिकल स्ट्राइक की प्लानिंग और उसकी जानकारी कितने लोगों को थी, इसके बारे में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि मेरे हेडक्वार्टर उधमपुर में पूरी प्लानिंग हुई। दिल्ली में डायरेक्टोरेट ऑफ मिलिट्री ऑपरेशन को इसकी जानकारी थी। जम्मू-कश्मीर स्थित आर्मी के 15 और 16 कोर को ये खबर दी गई थी।

इसे भी पढ़ें-  लड़की अंगुलियों की चाल देखकर पढ़ लेती थी पासवर्ड, फिर एटीएम में होता ऐसा खेल

सूरज निकलने के बाद टीमें लौटीं

पहली स्ट्राइक और अंतिम स्ट्राइक के बीच चार घंटे का वक्त था। हमें सबसे ज्यादा फिक्र अंतिम स्ट्राइक करने वाली टीम की थी। यह टीम अंतिम स्ट्राइक के लिए काफी अंदर तक गई थी। सुबह सूरज निकलने के बाद यह टीम लौटी। उस दौरान एलओसी पर हमारी तरफ से कवर फायरिंग भी हुई थी।

रूट काफी अच्छे तरीके से सेलेक्ट किया गया था। जब तक वहां पहुंचकर हमने हमला नहीं किया, तब तक पाकिस्तान की सेना को इस बात की भनक नहीं थी। लांच पैड के नजदीक पाकिस्तानी सेना के शिविर थे, जहां से फायरिंग हुई थी।

हमने अपने कैजुअल्टी को लेकर भी प्लानिंग की थी या फिर अगर कोई टीम वहां फंस जाती है तो उसे किस तरह से बाहर निकालना है। यह पूरी प्लानिंग हमने पहले से कर रखी थी। हमारे लिए जरूरी था कि हमारा हरेक जवान वापस आए। एक आदमी भी छूटना नहीं चाहिए।

13 thoughts on “जम्मू-कश्मीर पहुंची रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण, सर्जिकल स्ट्राइक का एक साल पूरा

  • December 5, 2017 at 7:31 AM
    Permalink

    You’re absolutely right and I definitely trust you. Whenever you want, we could as well chat about canon printer and scanner, one thing which fascinates me. The site is certainly remarkable, best wishes!

  • December 8, 2017 at 5:33 AM
    Permalink

    I’m seriously loving the design of your weblog. Do you face any web browser interface situations? A few of my own website audience have lamented concerning my shooting games website not working effectively in Internet Explorer yet looks excellent in Firefox. Do you have any kind of tips to help repair the problem?

  • December 8, 2017 at 6:27 PM
    Permalink

    Greetings, I’m really thrilled I found out this blog, I really found you by mistake, while I was browsing on Aol for freight charges. Regardless I am here now and would just enjoy to say cheers for a marvelous posting and the all-round fun blog (I furthermore love the theme), I don’t have the time to go through it all at the minute yet I have bookmarked it and also added your RSS feed, so when I have sufficient time I will be back to read a great deal more. Please do maintain the fantastic job.

  • December 9, 2017 at 12:49 PM
    Permalink

    I frequently go through your posts thoroughly. I’m likewise fascinated by shipping services, you could discuss this occasionally. Bye bye.

  • December 12, 2017 at 8:27 AM
    Permalink

    I’m interested to understand just what blog system you are utilizing? I’m experiencing several small protection issues with our most recent site about mesothelioma law center and I’d love to find a thing a lot more secure. Have you got any suggestions?

  • December 14, 2017 at 11:02 AM
    Permalink

    Heya i’m for the first time here. I came across this board and I find It really useful & it helped me out much. I’m hoping to offer something back and help others such as you aided me.

  • December 16, 2017 at 2:49 AM
    Permalink

    Hi there can you tell me which blog platform you are dealing with? I’m going to start off our site on dentures soon yet I am having a difficult time deciding.

  • December 16, 2017 at 5:29 PM
    Permalink

    Spot on with this write-up, I actually suppose this website wants much more consideration. I’ll most likely be once more to learn much more, thanks for that info.

  • December 17, 2017 at 6:33 AM
    Permalink

    I am actually loving the design of your website. Do you run into any kind of web browser interface situations? Quite a few of my own blog audience have lamented regarding my free hd movies online site not operating correctly in Internet Explorer though appears wonderful in Safari. Do you have any suggestions to help repair that problem?

Leave a Reply