30 साल में 6 बार इस शख्स को निकाला गया नौकरी से, हर बार लड़कर पाया हक

बेंगलुरु। कर्नाटक सिल्क इंडस्ट्रीज कॉर्पोरेशन में काम कर रहे 49 साल के वाईएन कृष्ण मूर्ति की कहानी काफी दिलचस्प है। उन्होंने जितना समय नौकरी करने में बिताया है, उससे ज्यादा समय तक वह कोर्ट-कचहरी के चक्कर काटते रहे हैं। बीते 30 सालों में उन्हें अच्छा प्रदर्शन नहीं करने के आरोप में छह बार नौकरी से निकाल दिया गया।

कोर्ट के आदेश पर उन्हें कॉर्पोरेशन से मुआवजे के साथ ही नौकरी वापस मिलती रही है। हाई कोर्ट ने इस बात पर भी हैरानी जताई कि 25 साल तक मूर्ति प्रोबेशन पर कैसे बने रहे। कोर्ट ने कहा कि हर बार मूर्ति को गलत व्यवहार के लिए नौकरी से निकाला गया। यदि वह योग्य नहीं थे, तो उन्हें उस आधार पर ही निकाला जा सकता था।

कोर्ट ने विभाग की जांच को भी अस्पष्ट बताते हुए कहा कि उसमें प्राकृतिक न्याय के सिद्धांतों का उल्लंघन हुआ है। इस बार भी कोर्ट ने मूर्ति की नौकरी को बहाल करने का आदेश देने के साथ ही उन्हें नहीं मिली आय का 50 प्रतिशत देने के भी आदेश भी कॉर्पोरेशन को दिए हैं।

इसे भी पढ़ें-  जन्म से पैर-हाथ नहीं होने के बाद भी यह लड़का बन गया प्रोफेशनल फोटोग्राफर, देखना चाहेंगे कैसे खींचता है तस्वीरें

इसके अलावा कॉर्पोरेश को 25 हजार रुपए का मुआवजा भी मूर्ति को देने के लिए कहा गया है। कोर्ट ने कहा है कि यदि जरूरी हो तो कॉर्पोरेशन याचिकाकर्ता के खिलाफ कोई भी विभागीय जांच करा सकता है, लेकिन उसमें न्याय का पालन करना होगा।

एक साल का प्रोबेशन पीरियड बढ़ता ही गया

मूर्ति ने 11 सितबंर 1987 को बतौर असिस्टेंट सेल्स ऑफिसर नौकरी शुरू की थी। उस वक्त कहा गया था कि उनका प्रोबेशन पीरियड एक साल का होगा। मगर, बाद में कॉर्पोरेशन ने कहा कि अच्छा प्रदर्शन नहीं करने के कारण मूर्ति का प्रोबेशन पीरियड मार्च 1994 तक बढ़ा दिया जाए।

इसे भी पढ़ें-  बॉयफ्रेंड ने दो साल पहले दिया था लॉकेट गिफ्ट में, खोलकर देखा तो उड़ गए होश

उसके बाद कॉर्पोरेशन ने उन्हें नौकरी से निकाल दिया। मूर्ति ने कॉर्पोरेशन के इस फैसले के खिलाफ हाई कोर्ट का रुख किया। तीन जजों की बेंच ने 2-1 से फैसला उनके पक्ष में सुनाया और उनकी नौकरी बहाल हो गई।

इसके बाद उन्हें पांच बार और कॉर्पोरेशन की नौकरी से निकाला गया। मगर, हर बार वह कोर्ट की मदद से नौकरी वापस पाने में सफल रहे। हाल ही में 22 सितंबर को एक बार फिर उन्होंने कॉर्पोरेशन के खिलाफ हाई कोर्ट में केस जीता है।

इससे पहले वर्ष 1997 में उन्हें नौकरी से निकाला गया था। इसके खिलाफ उन्होंने कोर्ट में अपील की और साल 2001 में उन्हें वापस नौकरी मिली व कॉर्पोरेशन को 5000 रुपए का मुआवजा भी मूर्ति को देना पड़ा। साल 2005 में एक बार फिर उन्हें कारण बताओ नोटिस दिया गया, जिसके खिलाफ हाई कोर्ट में अपील की और 10,000 रुपए बतौर मुआवजा पाया।

इसे भी पढ़ें-  छत्तीसगढ़ के इस पाताल लोक में आठों पहर रहता है अंधेरा, मछलियां भी हो जाती हैं अंधी

साल 2006 में उन्हें फिर निकाला गया और कोर्ट ने एक बार फिर उन्हें बहाल करने के निर्देश दिए। जुलाई 2012 में उन्हें फिर से बाहर किया गया, तो उन्होंने फिर से हाई कोर्ट का रुख किया।

मूर्ति ने 2013 में हाई कोर्ट के सामने छठी बार याचिका दाखिल की। उसका फैसला 22 सितंबर को उनके पक्ष में आया। मूर्ति ने कोर्ट के सामने कहा है कि उन्हें पीड़ित किया गया है। उन्होंने कहा कि उन्हें गलत आरोपों के चलते नौकरी से निकाला गया है।

14 thoughts on “30 साल में 6 बार इस शख्स को निकाला गया नौकरी से, हर बार लड़कर पाया हक

  • December 10, 2017 at 4:47 AM
    Permalink

    What i don’t understood is in fact how you are not actually a lot more well-liked than you may be now. You are very intelligent. You recognize therefore significantly in relation to this matter, produced me in my opinion imagine it from so many varied angles. Its like women and men don’t seem to be involved until it’s something to do with Woman gaga! Your own stuffs great. At all times maintain it up!

  • December 12, 2017 at 11:25 AM
    Permalink

    We absolutely enjoy your blog and find most of the blog posts to be just what I’m seeking. Would you offer people to create material for you? I wouldn’t mind publishing a piece of text regarding lawyer for mesothelioma or maybe on a few of the things you are writing about on this page. Awesome website!

  • December 13, 2017 at 12:53 PM
    Permalink

    There are actually fantastic upgrades on the design of the site, I really love it! My own is about websites to watch movies and now there are lots of things to be done, I am currently a newbie in website design. Be careful!

  • December 14, 2017 at 1:52 PM
    Permalink

    My developer is trying to persuade me to move to .net from PHP. I have always disliked the idea because of the expenses. But he’s tryiong none the less. I’ve been using WordPress on numerous websites for about a year and am nervous about switching to another platform. I have heard excellent things about blogengine.net. Is there a way I can import all my wordpress content into it? Any kind of help would be greatly appreciated!

  • December 15, 2017 at 4:15 PM
    Permalink

    Hey there, you’re certainly correct. I frequently look over your articles closely. I’m also curious about tooth extraction cost, maybe you might write about that from time to time. I’ll be back!

  • December 16, 2017 at 1:49 PM
    Permalink

    I am really interested to discover what blog platform you’re working with? I am having a few minor safety challenges with the most recent website dealing with websites to watch movies and I’d love to find a thing a lot more secure. Have you got any suggestions?

  • December 16, 2017 at 9:54 PM
    Permalink

    Hi! Do you use Twitter? I’d like to follow you if that would be ok. I’m definitely enjoying your blog and look forward to new updates.

  • December 17, 2017 at 10:59 AM
    Permalink

    Hi and thanks for your amazing content! I genuinely appreciated it.I will be sure to bookmark the page and will return from now on. I would really like to encourage you to keep on with the good writing, possibly write about free new movies online also, have a fine day!

  • January 6, 2018 at 4:17 PM
    Permalink

    When I originally commented I clicked the -Notify me when new comments are added- checkbox and now each time a remark is added I get 4 emails with the identical comment. Is there any method you may remove me from that service? Thanks!

  • January 6, 2018 at 4:24 PM
    Permalink

    Hello, you used to write excellent, but the last few posts have been kinda boring… I miss your tremendous writings. Past several posts are just a little out of track! come on!

Leave a Reply