भाषण देते समय छलके पीएम के आंसू, जानिये क्या कहा

दिल्‍ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत सुनिश्चित करने के लिये पार्टी के भीतर और बाहर युवाओं को प्रोत्साहित करने तथा देश भर में जमीनी स्तर पर पार्टी को और अधिक मजबूत बनाने पर जोर दिया।
गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनावों में भाजपा को मिली जीत के बाद पार्टी के संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पार्टी सांसदों एवं कार्यकर्ताओं से आत्म संतुष्टि से बचने की सलाह दी, साथ ही वर्ष 2022 के ‘न्यू इंडिया’’ की अपनी सरकार की सोच को नयी पीढ़ी तक पहुंचाने की बात पर जोर दिया। भाजपा संसदीय दल की बैठक के बाद केंद्रीय मंत्री अनंत कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री ने पार्टी नेताओं से भाजपा के खिलाफ विपक्ष के दुष्प्रचार से प्रभावित नहीं होने को कहा। कुमार ने कहा कि बैठक के दौरान मोदी ने कहा कि बूथ स्तर का कार्य सभी चुनाव प्रचार की धुरी होती है और यह चुनाव में जीत के लिये अत्यंत महत्वपूर्ण है।
पार्टी सूत्रों ने बताया कि बैठक के दौरान प्रधानमंत्री कई बार भावुक भी हुए और उन्होंने कहा कि किस प्रकार से गुजरात में पार्टी संगठन का निर्माण किया गया तथा वरिष्ठ नेताओं ने युवाओं को आगे बढ़ाया। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, ‘गुजरात’ शब्‍द बोलते समय मोदी का गला भर आया। उन्होंने जोर दिया कि तीन वर्ष सत्ता में रहने के दौरान किसी भी दूसरे दल ने देश भर में चुनाव में इतना अच्छा प्रदर्शन नहीं किया जैसा भाजपा ने किया। मोदी ने अपने गृह राज्य में पार्टी की जीत को बड़ी विजय बताया। पार्टी सूत्रों ने बताया कि मोदी ने इस दौरान अटल बिहारी वाजपेयी को याद किया कि किस तरह से गुजरात में अच्छा प्रदर्शन करने पर उन्होंने लोकसभा में उन्हें बधाई दी थी।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज पार्टी के संसदीय दल की बैठक में साल 2019 के लोकसभा चुनाव में जीत के लिये देशभर में बूथ स्तर पर भाजपा को मजबूत बनाने का आह्वान किया। उन्होंने कहा कि भाजपा संसदीय दल की बैठक में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने पार्टी के भीतर और बाहर युवाओं को प्रोत्साहित करने पर भी जोर दिया। भाजपा प्रवक्ता मीनाक्षी लेखी ने बताया कि बैठक के दौरान प्रधानमंत्री ने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में मिली जीत का जिक्र किया और चुनाव प्रचार से जुड़े अनुभव भी साझा किये। उन्होंने कहा कि हमें चुनाव में जीत मिली है लेकिन हमें आत्म संतुष्ट नहीं होना चाहिए। छोटा हो या बड़ा… हर काम को पूरी प्रतिबद्धता से करना चाहिए। बैठक के दौरान सभी सांसदों ने दो राज्यों में मिली जीत के लिये प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का स्वागत किया।

इसे भी पढ़ें-  दुनियाभर में क्रैश हुआ व्हाट्सएप, सोशल मीडिया में मची हलचल

 

प्रधानमंत्री ने कहा कि भाजपा चुनाव जीत रही है लेकिन पार्टी से लोगों की अपेक्षाएं काफी अधिक हैं। हमें इन अपेक्षाओं को पूरा करना है और इसलिये हर सांसद, कार्यकर्ता को पूरी लगन के साथ काम करना चाहिए। पार्टी के एक नेता ने बताया कि प्रधानमंत्री अपने संबोधन के दौरान भावुक भी हुए। उन्होंने कहा कि जनता का विश्वास कम नहीं हुआ है बल्कि बढ़ा है। प्रधानमंत्री ने कार्यकर्ताओं के परिश्रम एवं पराक्रम की सराहना की। भाजपा के एक नेता ने बताया कि पार्टी का मानना है कि नरेन्द्र मोदी देश के प्रधानमंत्री होने के साथ पार्टी के कार्यकर्ता भी हैं, ऐसे में वह जिस तरह से कार्यकर्ता के कर्तव्य का निर्वाह कर रहे हैं, उसे अन्य नेताओं को उदाहरण के रूप में लेना चाहिए। बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ अपने जुड़ाव का भी उल्लेख किया।

इसे भी पढ़ें-  मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने PM मोदी को लिखा पत्र, कहा- वापस लें ट्रिपल तलाक विधेयक

 

 

अनंत कुमार ने बताया कि मोदी ने कहा कि बूथ स्तर पर पार्टी को और मजबूत बनाना जरूरी है क्योंकि ये पार्टी के पक्ष में हवा बनाने में महत्वपूर्ण होते हैं। उन्होंने कहा कि 2018 में काफी संख्या में युवा वोट डालने के पात्र होंगे और ऐसे में युवाओं को जोड़ना महत्वपूर्ण है। बैठक में हिस्सा लेने के लिए पार्लियामेंट लाइब्रेरी बिल्डिंग में प्रधानमंत्री मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, गृहमंत्री राजनाथ सिंह समेत पार्टी के शीर्ष नेता पहुंचे। यहां पर भाजपा अध्यक्ष ने प्रधानमंत्री के पहुंचने पर सबसे पहले उन्हें लड्डू खिलाया। उधर, भाजपा संसदीय दल की बैठक के दौरान केन्द्रीय कृषि राज्यमंत्री कृष्णा राज की तबियत अचानक बिगड़ गई, जिसके बाद उन्हें राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

इसे भी पढ़ें-  फेसबुक के सीईओ मार्क जुकेरबर्ग को झटका, चीन ने लगाया ह्वाट्सएप पर पूर्ण प्रतिबंध

 

 

भाजपा संसदीय दल की बैठक ऐसे वक्त पर हो रही है जब पार्टी ने हिमाचल और गुजरात में जीत दर्ज की है और संसद के शीतकालीन सत्र की शुरुआत हो गई है। संसद के शीतकालीन सत्र में कांग्रेस, भाजपा को घेरने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह पर कथित तौर पर आरोप लगाने के लिए प्रधानमंत्री से माफी मांगने की मांग कर रही है। भाजपा ने जोर दिया है कि गुजरात में 99 सीट जीत कर पार्टी सरकार बनाने में सफल रही है और इसके साथ ही उसकी वोट हिस्सेदारी भी बढ़ी है। प्रधानमंत्री और भाजपा में लोगों का विश्वास बढ़ा है।

गौरतलब है कि इससे पहले गुजरात और हिमाचल प्रदेश में भाजपा की जीत के बाद सोमवार को भाजपा मुख्यालय में पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 2019 के लोकसभा चुनाव का मुद्दा तय करते हुए नारा दिया था कि ‘‘जीतेगा भाई, जीतेगा, विकास ही जीतेगा।’

Leave a Reply