चुनाव के नतीजों पर बड़ी भविष्यवाणी

राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की जमकर तारीफ की है। फैजाबाद जिले में आयोजित क्षत्रिय महासम्मेलन में शामिल हुए अमर सिंह ने कहा कि यूपी में योगी की सरकार है भोगी की नहीं। इस महासम्मेलन में अमर सिंह ने योगी और मोदी की तारीफों के पुल बांधते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पहले भी ना तो कोई चुनाव हारे हैं और ना ही हारेंगे। यह बात उन्होंने गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर कही। वहीं अमर सिंह यूपी सीएम की प्रशंसा करते भी नहीं थके। उन्होंने कहा कि योगी आदित्यनाथ को एसी की जरूरत नहीं है, वह काठ पर सोते हैं और वह फक्कड़ हैं। ऐसे आदमी के बारे में कुछ भी गलत नहीं बोला जा सकता। इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि उत्तर प्रदेश में सरकार तो बदल जाती हैं, लेकिन भ्रष्ट व्यापारी और अधिकारी नहीं बदलते, ऐसे व्यापारियों पर शिकंजा कसा जाना चाहिए।

इसे भी पढ़ें-  ये पुलिस अधिकारी गुजरात चुनाव में आजमाना चाहते हैं किस्मत

बता दें कि गुजरात विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस के निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा पीएम मोदी को नीच कहे जाने के मामले में अमर सिंह ने भी अपने विचार रखे थे। उन्होंने कहा था कि ‘इस देश के अनेक नेता मणि पीड़ित रह चुके हैं। इसमें उमा भारती, दिवंगत जयललिता समेत तमाम बड़े नेता हैं। मैं स्वयं भी मणि पीड़ित हूं। गुजराल साहब (पूर्व प्रधानमंत्री इंद्र कुमार गुजराल के भाई सतीश गुजराल) के निवास पर एक भोज था। वह मद्यपान करके नशे में चूर मदमस्त आधे घंटे से इतनी क्रूर बातें कर रहे थे कि हमारी और उनकी (मणिशंकर अय्यर) एक ऐतिहासिक झड़प हुई थी और उस झड़प ने पूरे राष्ट्र में इतनी प्रसिद्धि पाई कि जब मणिशंकर अय्यर संसद के प्रांगण में किसी को बेइज्जत करने खड़े होते थे तो भाजपा के सदस्य कहते थे कि मणि बैठ जा नहीं तो अमर सिंह आ जाएगा।’

इसे भी पढ़ें-  अरुणाचल प्रदेश में 200 मीटर तक घुसे चीनी सैनिको को भारतीय सेना ने खदेड़ा

अमर सिंह ने पहले भी बीजेपी की तारीफ की थी, इसके अलावा पार्टी से जुड़ने की इच्छा भी जाहिर की थी। उन्होंने कहा था कि वह भाजपा में शामिल होने की किसी पेशकश से इनकार नहीं करेंगे। समाजवादी पार्टी से निष्कासित अमर सिंह ने कुछ दिनों पहले संवाददाताओं से कहा था, “भाजपा बहुत बड़ा दल है। मैं यह नहीं कहूंगा कि यदि मुझे अवसर मिलेगा, तो मैं भाजपा में नहीं जाऊंगा, लेकिन मुझे यह अवसर दे कौन रहा है। मैंने यह अवसर हासिल करने के लिये कोई प्रार्थना पत्र भी नहीं दिया है।” उन्होंने एक सवाल पर कहा कि उन्हें यदि मोदी में कोई बुराई दिखायी देगी, तो वह उनकी आलोचना भी करेंगे।

Leave a Reply