स्कूल में गर्ल स्टूडेंट को गले लगाने पर क्या कहा कोर्ट ने

आपको शुभाशीष

केरल के एक स्कूल में अजीबोगरीब घटना सामने आई है। एक छात्र को गले से लगा लिया था। वहां मौजूद एक शिक्षिका ने दोनों को गले लगते देख लिया था।

केरल हाई कोर्ट ने सही ठहराया फैसला

उन्होंने वाइस प्रिंसिपल से इसकी शिकायत की थी। इसके बाद स्कूल प्रबंधन ने छात्र को ‘सांड’ करार देते हुए अनुशासन के नाम पर दोनों को स्कूल से एक सप्ताह के लिए निष्कासित करने का फरमन सुना दिया था।

यह मामला हाई कोर्ट तक पहुंच गया, जहां कोर्ट ने स्कूल के फैसले को सही माना। कोर्ट ने बाल अधिकार आयोग के अंतरित फैसले को रद करते हुए यह निर्णय दिया था।

इसे भी पढ़ें-  लड़की अंगुलियों की चाल देखकर पढ़ लेती थी पासवर्ड, फिर एटीएम में होता ऐसा खेल

यह मामला केरल की राजधानी तिरुअनंतपुरम स्थित सेंट थॉमस सेंट्रल स्कूल का है। स्कूल प्रबंधन अपने फैसले के पक्ष में साक्ष्य जुटाने के लिए दोनों छात्रों के इंस्टाग्राम अकाउंट तक भी पहुंच गया था। जानकारी के मुताबिक, सोलह वर्षीय छात्र की समस्या 21 जुलाई को शुरू हुई थी।

गायन प्रतियोगिता खत्म होने के बाद छात्र-छात्रा स्कूल की सीढ़ियों से उतर रहे थे जब छात्र ने छात्रा को गले लगाकर बेहतर प्रदर्शन के लिए उसे बधाई दी थी। उसी वक्त वहां से एक शिक्षिका गुजर रही थीं, जिन्होंने दोनों को गले मिलते हुए देख लिया था। उन्होंने दोनों की वाइस प्रिंसिपल के समक्ष पेशी करवाई थी। दोनों की इस हरकत को अनुशासनहीनता मानते हुए उन्हें एक सप्ताह के लिए स्कूल न आने का निर्देश दिया गया था। छात्र ने बताया कि उन्हें अपना पक्ष रखने का मौका दिए बगैर ही आदेश दे दिया था। दोनों से लिखित में माफीनामा भी लिया गया था।

Leave a Reply