धर्मांतरण के आरोप में प्रोफेसर को जेल भेजा, आगजनी व हंगामा

सतना। सतना के एक गांव में धर्मांतरण की सूचना के बाद बवाल मच गया। गुरुवार देर रात पुलिस एक समुदाय से जुड़े कुछ लोगों को थाने ले गई। इसी दौरान दूसरे पक्ष के कार्यकर्ता भी थाने पहुंच गए और हंगामा किया।

कुछ लोगों ने एक कार में आग लगा दी। पुलिस ने इस मामले में प्रोफेसर समेत पांच लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। प्रोफेसर को जेल भेज दिया गया है।

गुरुवार रात लगभग 11.30 बजे सिविल लाइन थाना क्षेत्र के भुमकहर गांव के धर्मेन्द्र डोहर ने 100 डायल फोन लगाया कि कुछ लोग उसका धर्मांतरण करा रहे हैं। ग्रामीणों ने इन्हें घेरकर रखा था। पुलिस मौके पर पहुंची और एक समुदाय से जुड़े तकरीबन दो दर्जन लोगों को थाने ले आई।

इसे भी पढ़ें-  पटवारी परीक्षा में भारी अव्यवस्था, सर्वर डाउन भटक रहे परीक्षार्थी परेशान

इसी दौरान किसी ने थाने के बाहर खड़ी कार में आग लगा दी। यह कार कॉलेज की बताई जा रही है। धर्मेंद्र डोहर के आवेदन पर प्रोफेसर एम जार्ज के विरुद्ध धर्मान्तरण अधिनियम 1968 के तहत मामला दर्ज कर शुक्रवार को न्यायालय में पेश किया। जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

धर्मेंद्र बदल रहा बयान

प्रोफेसर एम जार्ज का कहना है कि वे गांव में एक कार्यक्रम मनाने की तैयारी करने गए थे। वहीं आवेदक धर्मेंद्र बार-बार बयान बदल रहा है। कभी वह पुलिस को बताता है कि उसे 5 हजार रुपए देकर 10 दिसंबर को स्नान कराने के बाद भोजन कराया गया और उसका धर्म बदल दिया गया तो कभी कहता है कि धर्म नहीं बदला था। गुरुवार को पुलिस न पहुंचती तो उसका धर्म परिवर्तन हो जाता।

इसे भी पढ़ें-  राघौगढ़-नगर पालिका अध्यक्ष पद के लिए कांग्रेस की आरती शर्मा जीतीं

क्या कहा पुलिस अधीक्षक ने

ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस को भेजा गया था। जहां से तकरीबन दो दर्जन लोगों को थाने लाकर पूछताछ की गई। धर्मेंद्र की रिपोर्ट पर पांच लोगों के विरुद्ध अपराध पंजीबद्ध किया गया है। पुलिस ने आगजनी का मामला भी दर्ज किया है। दोनों मामलों की जांच की जा रही है।

-राजेश हिंगणकर, पुलिस अधीक्षक सतना

 

Leave a Reply