CM योगी को पति बताना पड़ा मंहगा, महिला देशद्रोह के आरोप में गिरफ्तार

सीतापुर। यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ शादी का दावा करने वाली महिला नीतू सिंह के खिलाफ देशद्रोह की धाराओं में केस दर्ज किया है। इसके बाद पुलिस ने उसे अदालत में पेश किया, जहां उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया। जब नीतू सिंह को अदालत से जेल भेजा जा रहा था उसी दौरान आगनवाड़ी की सैकड़ों महिला कार्यकर्त्ता नीतू सिंह जिंदाबाद के नारे लगा रही थी।

जानकारी के अनुसार सीतापुर में आगनवाड़ी कार्यकत्रियों के एक समूह ने सीएम योगी से मिलने की कोशिश की। लेकिन पुलिस ने उनकी इस कोशिश को नाकाम करते हुए उन्हें गिरफ्तार कर लिया। पुलिस की गिरप्त में आई आगनवाड़ी कार्यकत्रियों की नेता ने बताया कि उनकी शादी मुख्यमंत्री के साथ बीती 5 दिसंबर को हो चुकी है, क्योंकि उसने मुख्यमंत्री की फोटो के साथ 7 फेरे लेकर उन्हें अपना पति मान लिया था। नीतू सिंह का कहना है कि वह अपने सहयोगियों के साथ यहां पर इसलिए आई है कि या तो सीएम आगनवाड़ियों का मानदेय 15 हजार निश्चित करें या फिर उसे अपनी पत्नी मानते हुए स्वीकार कर लें।

इसे भी पढ़ें-  बीमार गाय मोनी को अस्पताल ले जाने के लिए ज्योति ने मांगी मोदी से मदद

बता दें कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की तस्वीर के साथ शादी करने वाली इस महिला का नाम नीतू सिंह है। महिला ने सीतापुर में डीएम दफ्तर के पास विकास भवन के सामने 5 दिसम्बर को बैंड-बाजे के साथ योगी आदित्यनाथ की तस्वीर से शादी रचाई थी। इस शादी में महिला ने फिल्मी गानों की धुनों के बीच योगी की तस्वीर को जयमाला पहनाई थी। शादी में सैकड़ों की संख्या में आंगनवाड़ी महिला कार्यकर्त्ता मौजूद थीं।

इस वजह से रचाई थी CM योगी की फोटो से शादी
दरअसल इस शादी के पीछे महिला आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ताओं का मकसद अपनी मांगे सीएम योगी आदित्यनाथ तक पहुंचाना था। आंगनवाड़ी कार्यकर्त्ताओं का कहना था कि पति अपनी पत्नी को हर खुशी देता है, उसकी हर जिद पूरी करता है, इसलिए नीतू सिंह ने ये रास्ता अपनाया।

Leave a Reply