Duleep Trophy Final: 17 साल के पृथ्वी शॉ ने रच डाला इतिहास, अब सचिन तेंदुलकर के रिकॉर्ड की बराबरी से महज एक कदम दूर

पृथ्वी शॉ, एक ऐसा नाम जिसे शायद कुछ ही साल बाद टीम इंडिया में भी सुनने को मिले। ये युवा बल्लेबाज ने इंडिया ब्लू की ओर से खेलते हुए जो कारनामा किया, उस रिकॉर्ड से महानतम बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर का भी नाम जुड़ा है। 17 वर्षीय पृथ्वी दलीप ट्रॉफी के फाइनल में शतक जड़ने वाले सबसे युवा बल्लेबाज बन गए हैं। इतना ही नहीं बल्कि दलीप ट्रॉफी में तेदुलकर के बाद शतक जड़ने वाले दूसरे सबसे कम उम्र के बल्लेबाज भी बन चुके हैं।

पृथ्वी शॉ पिछले सीजन रणजी ट्रॉफी के फाइनल में अर्धशतक जड़ने वाले सबसे कम उम्र के बल्लेबाज बने थे। यही रिकॉर्ड को दोहराते हुए पृथ्वी ने 17 साल 320 दिन की उम्र में ईस्ट जोन के खिलाफ शतक जड़ा। पृथ्वी ने 249 गेंदों में 18 चौकों और 1 छ्क्के की मदद से 154 रन की पारी खेली।

सचिन तेंदुलकर के इस रिकॉर्ड से एक कदम दूर : सचिन तेंदुलकर ने रणजी, दलीप और देवधर ट्रॉफी के अपने डेब्यू मैच में सेंचुरी लगाई थी। वहीं पृथ्वी शॉ रणजी और दलीप ट्रॉफी का आगाज शतक के साथ कर चुके हैं। अब सचिन के रिकॉर्ड की बराबरी के लिए केवल देवधर ट्रॉफी में ही शतक लगाना रह गया है। ये बल्लेबाज स्कूली मैच में 546 रन की पारी खेलकर चर्चा में आया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *