महामना एक्सप्रेस: सफर के पहले दिन ही यात्री उड़ा ले गये नल, कारपेट और शीशे

इंडियन रेलवे के वीआईपी ट्रेनों में शुमार वाराणसी-वडोदरा महामना एक्सप्रेस अपने सफर के पहले दिन ही भारतीय मानसिकता से रु-बरु हुई। रविवार को जब ट्रेन वाराणसी से वडोदरा लौटी तो यार्ड के अधिकारी ये देखकर हैरान थे कि जनरल कोच के तीन शौचालयों के नल गायब थे। ट्रेन में लगाये गये चार हैंड शॉवर्स, और दो कारेपट भी अपनी जगह से गायब थे। इसके अलावा ट्रेन के टॉयलेट और सीटों की हालत बेहद खराब हो गई थी। इस नयी ट्रेन के सीट पर स्क्रैच लगा हुआ था और कोच के शीशे लगभग टूटे हुए थे। शुक्रवार (22 सिंतबर) को पीएम नरेन्द्र मोदी ने वाराणसी से इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई थी। रेलवे अधिकारियों को इस बावत कोई जानकारी नहीं है कि ट्रेन की ऐसी हालत किसने की? लेकिन उनका मानना है कि इन घटनाओं के लिए ट्रेन के पैसेंजर जिम्मेदार हैं।

Leave a Reply