इन इंजीनियरिंग कॉलेजों की फर्जी हैं डिग्रियां, देखें कहीं आपका संस्थान तो नहीं

अगर आप इंजीनियरिंग के छात्र हैं तो यह खबर पढ़ना आपके लिए बहुत जरूरी है। यूनिवर्सिटी ग्रांट्स कमीशन (UGC) ने 4 इंजीनियरिंग कॉलेजों की डिस्टेंस डिग्री की मान्यता रद्द करने का फैसला लिया है। यूजीसी के इस फैसले के बाद 4 कॉलेजों की इंजीनियरिंग डिस्टेंस डिग्री की कोई अहमियत नहीं रह जाएगी। यूजीसी का यह फैसला सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद आया है। जानकारी के लिए आपको बता दें, डिस्टेंस लर्निंग मोड से इंजीनियरिंग डिग्रियों की मान्यता को सुप्रीम कोर्ट ने रद्द कर दिया है। 3 नवंबर, 2017 को सुप्रीम कोर्ट ने यह फैसला दिया था। सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद यूजीसी ने भी कड़े कदम उठाते हुए 4 कॉलेजों की डिग्रियों  को रद्द कर दिया है। चलिए जानते हैं उनके बारे में।

जनार्दन राय नगर राजस्थान विद्यापीठ यूनिवर्सिटी- इस यूनिवर्सिटी की डिस्टेंस डिग्री की मान्यता यूजीसी द्वारा रद्द कर दी गई है।

इंस्टिट्यूट ऑफ एडवांस स्टडीज इन एजुकेशन, राजस्थान- अगर आप इस संस्थान से डिस्टेंस मोड से इंजीनियरिंग डिग्री हासिल करने का विचार कर रहे हैं तो भूल जाइए। इसकी मान्यता भी यूजीसी द्वारा रद्द कर दी गई है।

विनायक मिशन्स रीसर्च फाउंडेशन, तमिलनाडु- यूजीसी के फैसले के बाद अब विनायक मिशन्स रीसर्च फाउंडेशन भी डिस्टेंस लर्निंग कोर्सिस में इंजीनियरिंग की डिग्री नहीं दे सकता।

इंजीनियरिंग छात्रों के लिए यह जानकारी काफी महत्वपूर्ण हैं। अगर आपमें से किसी ने इन संस्थानों से डिस्टेंस मोड से इंजीनियरिंग डिग्री हासिल करने का प्लान बनाया है तो उसे तुरंत ही रद्द कर दें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *