हादसों का शुक्रवार: एक दिन में 3 ट्रेन हादसे, कहीं बेपटरी हुई ट्रेन, कहीं इंजन से अलग हुई कोच

उत्तर प्रदेश के बाद ओडिशा में भी एक ट्रेन हादसा हुआ है। ओडिशा के जगतसिंहपुर जिले में कोयले से लदी एक मालगाड़ी पटरी से उतर गई। हादसे में मालगाड़ी के 14 डिब्बे पटरी से उतर गये। इस घटना में फिलहाल किसी हताहत होने की खबर नहीं है। अधिकारियों ने बताया कि घटना सुबह करीब पांच बजकर 55 मिनट पर हुई थी। रिपोर्ट्स के मुताबिक ये हादसा ग्वालिपुर स्टेशन के नजदीक हुआ है। यहां पर पारादीप-कटक मालगाड़ी के 14 डिब्बे पटरी से उतर गये। घटना के बाद इस रूट पर रेलों का आवागमन ठप हो गया है। घटनास्थल के लिए रेलवे की रेस्क्यू ट्रेन को रवाना कर दिया गया है।सबसे पहले गार्ड ने नजदीकी स्टेशन को इसकी सूचना दी जिसके बाद नियंत्रण कक्ष को तत्काल सूचित किया गया और फिर राहत ट्रेनों एवं क्रेन को तैनात किया गया।

महा प्रबंधक उमेश सिंह ने खुर्दा रोड़ डिविजन को जांच समिति गठित करने और विस्तृत रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं।  मिश्रा ने बताया, ‘‘जांच रिपोर्ट में घटना पर स्पष्ट जवाबदेही तय करने समेत इसके सभी पहलुओं, परिस्थितियों एवं कारणों का उल्लेख किया जाना डीआरएम/केएचआरडीए रोड ब्रज मोहन अग्रवाल तुरंत एक जांच समिति नामित कर रहे हैं।’’ दुर्घटना वाले स्थान की जांच के बाद यह फैसला किया गया कि पटरी से उतरे 14 डिब्बों में से 12 डिब्बों को क्रेन की मदद से पटरी से हटाया जायेगा जबकि दो डिब्बों को आगे चलाया जायेगा।

उत्तर प्रदेश में ही एक और ट्रेन दुर्घटना हुई है। सहारनपुर में शुक्रवार को जम्मू-पटना अर्चना एक्सप्रेस का इंजन ट्रेन से अलग हो गया। इस वजह से इस रूट पर ट्रेनों की आवाजाही कुछ देर तक रुकी रही। बाद में इंजन को फिर से ट्रेन से जोड़ा गया इसके बाद ही ट्रेन आगे रवाना हो सकी। बता दें कि इससे पहले आज (24 नवंबर) तड़के उत्तर प्रदेश के चित्रकूट जिले के मानिकपुर जंक्शन वास्को डि गामा-पटना एक्सप्रेस डिरेल हो गई। इस दुर्घटना में ट्रेन के 13 डिब्बे पटरी से उतर गए। इस हादसे में तीन लोगों की मौत हो गयी, जिनमें एक छह साल का मासूम और उसका पिता शामिल हैं। हादसे में नौ अन्य यात्री घायल हो गये। रिपोर्ट्स के मुताबिक पटना जा रही 12741 वास्को डि गामा एक्सप्रेस सुबह चार बजकर अठारह मिनट पर जैसे ही मानिकपुर रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर -2 से होकर गुजरी, इसके 13 डिब्बे पटरी से उतर गये।

7 thoughts on “हादसों का शुक्रवार: एक दिन में 3 ट्रेन हादसे, कहीं बेपटरी हुई ट्रेन, कहीं इंजन से अलग हुई कोच

  • December 3, 2017 at 6:23 PM
    Permalink

    I’ve been exploring for a bit for any high-quality articles or blog posts on this kind of area . Exploring in Yahoo I at last stumbled upon this site. Reading this info So i am happy to convey that I’ve a very good uncanny feeling I discovered exactly what I needed. I most certainly will make certain to don’t forget this site and give it a look regularly.

    Reply
  • December 9, 2017 at 9:52 PM
    Permalink

    Somebody essentially assist to make significantly articles I’d state. This is the very first time I frequented your website page and thus far? I amazed with the analysis you made to create this actual publish incredible. Excellent job!

    Reply
  • December 12, 2017 at 9:32 AM
    Permalink

    I was talking to a good friend of my own regarding this and also about lawyer for mesothelioma as well. I feel you made a few good points in this case, we’re also looking forward to continue reading material from you.

    Reply
  • December 14, 2017 at 11:59 AM
    Permalink

    Wow! This can be one particular of the most useful blogs We have ever arrive across on this subject. Actually Excellent. I’m also an expert in this topic so I can understand your hard work.

    Reply
  • December 15, 2017 at 11:53 PM
    Permalink

    You’re totally right and I definitely understand you. If you want, we can as well chat around emergency dentist, one thing which fascinates me. The site is truly remarkable, best wishes!

    Reply
  • December 16, 2017 at 6:26 PM
    Permalink

    of course like your website but you need to test the spelling on several of your posts. Many of them are rife with spelling issues and I to find it very troublesome to inform the truth then again I will surely come again again.

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *