पूरी रणनीति के साथ गैम्बलर के घर मारा छापा, दो लाख नगदी सहित 8 जुआरी गिरफ्तार

छतरपुर। शहर में ही लाखों रूपए के दाव लगाए जा रहे थे और किसी को इसकी भनक नहीं थी मगर जैसे ही सीएसपी को इस जुआ की फड़ के बारे में जानकारी मिली वैसे ही वे पूरी रणनीति के साथ छापा मारने चले गए। आदतन अपराधी और जुए की लंबे समय से फड़ चलाने वाले के घर छापा मारकर आठ जुआरियों को दबोचते हुए उनके कब्जे से दो लाख 3 हजार 500 रूपए जब्त किए हैं। सीएसपी की इस कार्यवाही से जुआरियों में खलबली मच गई। पुलिस ने सभी के खिलाफ 13 जुआ एक्ट के तहत मामला दर्ज करते हुए आरोपियों को जमानत पर छोड़ दिया।

सीएसपी राकेश शंकवार को मुखबिर से सूचना मिली थी कि नारायणपुरा रोड में रहने वाले भोलू हत्याकाण्ड के मुख्य आरोपी एवं आदतन अपराधी तारिक सौदागर पुत्र अजीज सौदागर के घर लाखों रूपए का जुआ खेला जाता है। मुखबिर की सटीक सूचना पर सीएसपी ने टीआई कोतवाली केके खनेजा तथा पुलिस बल को लेकर मुखबिर द्वारा बताए गए स्थान पर रात 12 बजे पहुंचे जहां उन्होंने छापा मारकर 8 जुआरियों को दबोच लिया। पकड़े गए जुआरियों में तारिक सौदागर, रवि असाटी, हरिश्चन्द्र सतनामी, रहूफ खान, रियाज अहमद, तेजेन्दर सिंह सभी छतरपुर के रहने वाले हैं जबकि सतेन्द्र ङ्क्षसह बुन्देला और केहर सिंह हरपालपुर की राजपूत कॉलोनी के रहने वाले हैं। पकड़े गए जुआरियों में से कुछ लोगों पर मामले भी चल रहे हैं। जुआरियों के कब्जे से 8 मोबाइल तथा दो लाख 3 हजार 500 रूपए जब्त किए गए हैं।

जुआरियों को दबोचने ऐसी बनाई रणनीति

सूत्रों ने बताया कि सीएसपी राकेश शंकवार को जैसे ही नारायणपुरा रोड में तारिक सौदागर के निर्माणाधीन मकान में जुआ खेले जाने की जानकारी मिली वैसे ही उन्होंने कोतवाली टीआई को सिविल लाईन क्षेत्र में जुआ पकड़ने की बात कहते हुए छत्रसाल चौराहा चौकी पर बुलाया। टीआई खनेजा के साथ एसआई बीबी सिंह, प्रधान आरक्षक रामसजीवन तिवारी, आरक्षक कुलदीप सिंह, इरफान खान, धर्मेन्द्र चतुर्वेदी, धर्मेन्द्र यादव, पंकज, महेन्द्र, दीप ङ्क्षसह, रामशरण भी छत्रसाल चौराहा चौकी आए। पुलिस बल इकट्ठा होने के बाद सभी के मोबाइल स्विच ऑफ कराते हुए जब्त कर लिए गए। इसके बाद सबको गाड़ी में बैठाकर कोतवाली क्षेत्र के नारायणपुरा रोड पहुंचे। जैसे ही पुलिस तारिक के घर के बाहर पहुंची वैसे ही उसके घर के भीतर भगदड़ का माहौल हो गया। जुआरियों ने जहां देखा वहां पैसे फेंकने की कोशिश की लेकिन वे पूरी तरह से घिर चुके थे। तारिक ने भी भागने की कोशिश की मगर उसे दबोच लिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *