प्राइवेट कॉलेजों के प्राचार्यों ने चुनाव कराने से किया इंकार

कटनी। कटनी के 12 प्राइवेट कालेजों में छात्रसंघ चुनाव शायद कटनी में नहीं हो पाएंगे। दरअसल कटनी जिले के निजी महाविद्यालय के प्राचार्यों की शनिवार को अग्रणी तिलक कालेज प्राचार्य ने चुनाव से सम्बंधित बैठक बुलाई थी। जिसमे निजी कालेज के प्राचार्यों ने विभिन्न कारणों का हवाला देते हुये चुनाव करवाने से इनकार करते हुए अपना पत्र विश्व विद्यालय प्रशासन को भेज दिया है। गौरतलब है कि आज से चुनाव प्रक्रिया प्रारम्भ होनी है और इसके लिये बाकायदा नोडल अधिकारी भी नियुक्त किये गए थे, लेकिन अब सब कुछ खटाई में पड़ गया। उधर यह भी पता लगा है कि आज तिलक कालेज की ओर से रानी दुर्गावती विवि को कटनी के सभी प्राचार्यों के चुनाव न कराने के निर्णय से अवगत करा दिया है। हालांकि इस दिशा में यूनिर्वसिटी प्रबंधन क्या निर्णय लेता है कि शाम तक साफ हो जाएगा। इधर अशासकीय महाविद्यालय संघ की ओर से भी लिखित सूचना लीड कालेज को दे दी गई है। इस बारे में लीड महाविद्यालय के प्राचार्य से बात करने की कोशिश की गई लेकिन संपर्क नहीं हो सका।

क्यों लिया प्राचार्यों ने निर्णय
जानकारी के अनुसार कटनी जिले के अशासकीय महाविद्यालय संघ ने सर्वसम्मति से यह निर्णय लिया जिसमे जिले के 12 अशासकीय कालेज शामिल हैं। कालेज प्रबंधन ने साफ कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया काफी विलम्ब से हो रही है। परीक्षाओं का सत्र चल रहा है ऐसे में चुनाव कराना छात्रों के भविष्य के साथ खिलवाड़ होगा। हालांकि विवि ने परीक्षा की तिथियां आगे बढ़ा दी हैं। और अब यह 30 तारीख के बाद होंगी बावजूद प्राइवेट कालेज का प्रबंधन चुनाव कराने को राजी नहीं है।
छात्र संघों की भी रूचि नहीं
जानकारी के अनुसार प्राइवेट कालेजों में चुनाव को लेकर छात्र संघों को भी ज्यादा रूचि नहीं है। कटनी जिले के कालेजों में अधिकांश छात्र संघों की इकाई ने चुनाव नहीं कराने के लिए भी कालेज प्रबंधन के निर्णय का साथ देते हुए लिख कर दे दिया है कि वह फिलहाल चुनाव कराने के पक्ष में नहीं हैं।
इनको बनाया चुनाव अधिकारी
निजी महाविद्यालयों में चुनाव के लिए निर्वाचन अधिकारी नियुक्त कर दिए गए थे। केडीसी में डॉ. केपी मिश्रा, सायना में श्रीमती उर्मिला दुबे, राजीवगांधी कालेज रीठी में डॉ. सुनील कुमार, सरावगी महाविद्यालय में डॉ. वीणा सिंह, द्वारिकादास कालेज ढीमरखेड़ा के लिए श्रीमती लक्ष्मी नायक, बारडोली कालेज के लिए डॉ. पद्मा त्रिपाठी, टेवाइट कालेज के लिए डॉ. अनिल तौहेल, नालंदा कालेज के लिए जीएम मुस्तफा, वर्धमान कालेज के लिए डॉ. रूकमणि प्रताप सिंह, कटनी आर्ट एण्ड कामर्स कालेज के लिए डॉ. माधुरी गर्ग, एमजीएम नर्सिंग कालेज के लिए डॉ. नाहीद सिद्दीकी एवं साईंनाथ नर्सिंग कालेज के लिए डॉ. विमला मिंज को चुनाव अधिकारी बनाया गया है।

पूरे प्रदेश में यही हाल
उधर निजी कालेजों में चुनाव को लेकर पूरे प्रदेश में यही हाल नजर आ रहा है। चुनाव की अधिसूचना जारी होने में विलंब और अधिकांश विवि में परीक्षाओं के चलते प्रदेश के कई जिलों में चुनाव को लेकर असमंजस बना हुआ है। गौरतलब है कि प्रदेश सरकार ने निजी कालेजों में चुनाव की अधिसूचना जारी करने में विलंब किया।

5 thoughts on “प्राइवेट कॉलेजों के प्राचार्यों ने चुनाव कराने से किया इंकार

  • December 10, 2017 at 5:32 AM
    Permalink

    Thanks for another informative site. Where else could I get that kind of information written in such an ideal way? I have a project that I am just now working on, and I have been on the look out for such information.

    Reply
  • December 12, 2017 at 8:51 AM
    Permalink

    We certainly adore your blog and find a majority of your articles to be just what I’m interested in. Would you offer people to post content material for you? I wouldn’t mind producing a piece of text relating to mesothelioma law firms or perhaps on some of the subjects you are writing about on this website. Awesome place!

    Reply
  • December 14, 2017 at 11:23 AM
    Permalink

    I have been examinating out a few of your articles and i can claim nice stuff. I will surely bookmark your blog.

    Reply
  • December 16, 2017 at 7:50 PM
    Permalink

    Somebody necessarily assist to make severely posts I might state. This is the very first time I frequented your web page and up to now? I surprised with the research you made to make this actual put up extraordinary. Magnificent task!

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *