सवा करोड़ की ठगी के मामले में संगठन व कारोबारी आमने-सामने

कटनी। माधवनगर थाना अंतर्गत औघोगिक क्षेत्र बरगवां के दो दाल कारोबारियों के साथ हुई लगभग सवा करोड़ रूपए की ठगी के मामले में नयामोड़ आ गया है। मामले को लेकर कल बुधवार को लघु उद्योग भारती संगठन के पदाधिकारियों ने पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह से मिलकर आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की तो इसके कुछ देर बाद क्षेत्रीय विधायक संदीप जायसवाल के साथ पहुंचे कुछ व्यापारियों ने मामले में साजिश व षडयंत्र रचने का आरोप लगाते हुए पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करने आवेदन सौंपा।

कारोबारियों ने कहा झूठा है मामला, पुलिस करे निष्पक्षता से जांच

आवेदन में सात बिंदुओं का उल्लेख किया गया और इन्हीं बिंदुओं के आधार पर जांच करने के लिए कहा गया है। गौरतलब है कि माधवनगर थाना अंतर्गत औघोगिक क्षेत्र बरगवां के दाल कारोबारी भाई क्रमशः मोहनदास अग्रवाल और उनके भाई सत्यनारायण अग्रवाल ने अपने साथ दाल खरीदी में धोखाधड़ी करने की शिकायत की थी।

पुलिस ने शिकायत की जांच की और जांच में तथ्य सामने आने के बाद माधवनगर निवासी रोहित पोपटानी और नई बस्ती निवासी मनीष संगतानी के खिलाफ धोखाधड़ी की धारा के तहत प्रकरण दर्ज किया है। इस मामले में माधवनगर थाना प्रभारी मंजीत सिंह ने बताया कि बरगवां निवासी मोहनदास अग्रवाल और उनके भाई सत्यनारायण अग्रवाल व्यवसायी हैं।

दोनों के द्वारा मार्च 2107 में आर्शीवाद एग्रो के दो दलाल माधवनगर निवासी रोहित पोपटानी और नई बस्ती निवासी मनीष संगतानी से ग्रेड-3 की खड़ी मसूर लगभग 5 सौ मिट्रिक टन दाल मंगाई थी। दोनों व्यवसायियों ने ग्रेड-3 दाल के लगभग 80-80 लाख रुपए जून महीने तक भुगतान भी कर दिया था। लगभग 9 लाख रुपए का भुगतान करना बाकी था।

इसके बाद दोनों द्वारा एग्रो कार्प इंटरनेशनल कंपनी सिंगापुर प्रायवेट लिमिटेड के माध्यम से कनाडा से दाल की खरीदी की लेकिन खरीदी के दौरान जिस ग्रेड की खड़ी मसूर की दाल का सौदा तय किया गया था तो उस ग्रेड को मंगाने की बजाय गुणवत्ताहीन दाल का आर्डर दिया गया।

दाल जब व्यवसायियों को दी गई तो पता चला कि जिस ग्रेड की दाल का भुगतान व्यवसायियों ने दलालों को किया था उस ग्रेड की खड़ी मसूर नहीं है। जिसके बाद यह मामला थाने पहुंचा और पुलिस ने आरोपित लोगों के विरूद्ध अपराध दर्ज कर मामले को जांच में लिया है।
संगठन ने की गिरफ्तारी की मांग
इस मामले में लघु उद्योग भारती के पदाधिकारियों द्वारा पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह को सौंपे गए ज्ञापन में आरोपियों की गिरफ्तारी की मांग की गई है। ज्ञापन में यह भी बताया गया है कि दोनों आरोपियों का राजनैतिक और व्यापारिक रसूख है। जिसके कारण पुलिस आरोपियों की गिरफ्तार नहीं कर रही है। संगठन पदाधिकारियों ने पुलिस से जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। ज्ञापन सौंपने के दौरान लद्यु उद्योग भारती के अरुण सोनी, रामहित सोनी, हरि सिंह, मनीष सुरेका, मोहन अग्रवाल, लाला सिंघानिया, सरवन बजाज, नीरज बहरे, प्रशांत अग्रवाल आदि मौजूद थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *