दुगाडी नाला निर्माण : हस्ताक्षर अभियान चलाकर जताया विरोध

कटनी । दुगाडी नाले पर चल रहे निर्माण कार्य मे लेटलतीफी तथा इससे आवागमन में हो रही असुविधा को लेकर आज हस्ताक्षर अभियान चलाया गया। आरोप है कि नगर निगम की लापरवाही के कारण जनता कष्ट भुगत रही है।

दुगाडी नाला में समय पर कार्य न करने एवम 8 माह में भी वैकल्पिक मार्ग को दुरस्त न करने को लेकर तथा दुगाडी नाला पुल को समय पर बनाने, वैकल्पिक मार्ग में डामलीकरण का कार्य जल्द से जल्द पूर्ण करने को लेकर आज दुगाडी पुल के पास अधिवक्तागण, शहर के आमनागरिक, समाजसेवी, बुद्धजीवी वर्ग ने हस्ताक्षर अभियान चलाकर नगर निगम कटनी के जिम्मदारों तथा पद पर बैठे जनप्रतिनिधियों का विरोध करते इनका ध्यानाकृष्ट कराया।

हस्ताक्षर अभियान में प्रमुख रूप से सी.ए.सुशील शर्मा, पूर्व महापौर विजेंद्र मिश्र, फिरोज अहमद , चीनी चेलानी, विकास गुप्ता, उधोगपति मनीष गई, अधिवक्तता हरि तिवारी, आर.के.गर्ग, श्याम गौर, वेंकट गौर, सन्तु परोहा, मीना सिंह , प्रीति सेन, राजेन्द्र गेलानी, मनु दीक्षित, विक्रम खम्परिया, गोल्डन पांडेय, रमेश सोनी, अरुण कनोजिया मामा, पार्षद चोखे भाई, पार्षद कल्लू विश्वकर्मा, पार्षद मनोज गुप्ता, अविनाश तिवारी, सच्चानन्द चेलानी, हीरानन्द सप्तानि, सेवकराम गोंग, अशोक पमनानी, गोविंद सचदेवा, मोहन बत्तरा, विशनदास चेलानी, सुमित अग्रवाल, सुरेंद्र मिश्रा, रौनक खण्डेलवाल,सहित शहर के कई अधिवक्तागण, पत्रकार, शहर के जागरूक लोग भी शामिल हुए । हस्ताक्षर अभियान को सफल बनाने में  एड.विष्णु बाजपेई, एड.सुजीत द्विवेदी, एड.सुनील मिश्रा, एड. अनिल सिंह का योगदान रहा।

क्या है मामला

दुगाडी नाला पुल कटनी शहर के लिये अति आवश्यक है क्योंकि पुल के उस पार जिला न्यायलय, कलेक्टर कार्यालय, पुलिस अधीक्षक कार्यालय, एवम लगभग सभी कार्यालय है। पुल के इस तरफ बाल न्यायलय, उपभोक्ता फोरम भी हैं। कटनी व आसपास के ग्रामीण क्षेत्र तथा जिले के बाहरी हजारो लोगो को रोज इसी इसी पुल से आना जा ना पड़ता है। सबसे बड़ी बात की जबलपुर इलाहाबाद प्रमुख मार्ग भी है जिससे कटनी शहर से होकर हजारो लोग रोज निकलते है। निर्माण  ठेकेदार ने निर्माण के लिये 6 माह का समय लिया था वो 9 अक्टुबर को खत्म हो गया। दुगाडी नाला पुल का कार्य इतनी मन्द गति से चल रहा जिससे लगता है कि सालो पुल नही बन पायेगा नगर निगम ने 4 माह का समय और बढ़ा दिया
8 माह में वैकल्पिक मार्ग भी व्यवस्तित नही बन पा रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *