Kendriya Vidyalaya -अब दो साल तक मान्‍य रहेंगे 12वीं के प्रेक्टिकल में मिले नंबर

जबलपुर। केन्द्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने इस बार रिजल्ट में सुधार के लिए और दोबारा 12वीं बोर्ड की परीक्षा में शामिल होने वाले स्टूडेंट्स को प्रैक्टिकल परीक्षा से राहत दी है।

पिछली परीक्षा में जो स्टूडेंट्स प्रैक्टिकल में पास थे, वे इस बार प्रैक्टिकल में शामिल नहीं होंगे। वे चाहे इंप्रूवमेंट के लिए परीक्षा फॉर्म भर रहे हों या पिछली बार फेल होने कारण।

पिछले वर्ष की प्रैक्टिकल परीक्षा में मिले अंक ही इस बार भी मान्य होंगे। बोर्ड ने पिछले दिनों ही इस संबंध में अधिसूचना जारी की थी। अधिसूचना के अनुसार प्रैक्टिकल परीक्षा का प्राप्तांक अगले दो वर्ष तक मान्य रहेगा लेकिन पिछले वर्ष प्रैक्टिकल में फेल विद्यार्थियों को प्रैक्टिकल व थ्योरी दोनों ही परीक्षा में शामिल होना होगा। इसके अलावा पिछली बार स्वास्थ्य कारणों से प्रैक्टिकल में उपस्थित नहीं हो पाने वाले स्टूडेंट्स भी प्रैक्टिकल के साथ थ्योरी परीक्षा के लिए आवेदन करेंगे।

प्राइवेट स्टूडेंट्स को अनुमति नहीं

सीबीएसई द्वारा स्पष्ट किया गया है कि परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले प्राइवेट स्टूडेंट्स फिजिक्स व केमेस्ट्री जैसे उन विषयों का चयन नहीं कर सकेंगे, जिसमें प्रैक्टिकल हो। ऐसे में उन्हें वैसे विषयों का चयन करना होगा, जिसमें प्रोजेक्ट वर्क शामिल हो। उनके प्रोजेक्ट वर्क का मूल्यांकन परीक्षा केन्द्र अधीक्षक द्वारा किया जाएगा।

इंप्रूवमेंट परीक्षा की मार्क्सशीट होगी अलग

बोर्ड की अधिसूचना के अनुसार इंप्रूवमेंट के लिए परीक्षा में शामिल होने वाले विद्यार्थियों को बोर्ड संबंधित विषय की अलग मार्क्सशीट उपलब्ध कराएगा। पिछली परीक्षा की तुलना में वर्ष 2018 की परीक्षा में संबंधित विषय का प्राप्तांक अधिक हो या कम, दोनों ही परिस्थितियों में अलग मार्क्सशीट मिलेगी। इसके अलावा अन्य विषयों के लिए वे पिछली परीक्षा की मार्क्सशीट भी उपयोग में लाएंगे। इस तरह कहीं एडमिशन से लेकर नियोजन तक के लिए वे दोनों मार्क्सशीट प्रस्तुत करेंगे।

फीस जमा करने की आज अंतिम तिथि

– इंप्रूवमेंट एग्जाम के लिए स्टूडेंट्स बिना लेट फीस के आज यानी 7 नवंबर तक ही आवेदन कर सकते हैं। तय तिथि तक उन्हें 650 रुपए शुल्क जमा करना होगा। इसके बाद उन्हें विलंब शुल्क देना होगा।

विभिन्न तिथियों में देना होगा अलग-अलग विलंब शुल्क

– 08 से 14 नवंबर तकः 1150 रुपए

– 15 से 21 नवंबर तकः 2150 रुपए

– 22 से 28 नवंबर तकः 5150 रुपए

तय तिथि के बाद हार्ड कॉपी जमा करने पर फाइन इतना

– 15 दिन के अंदरः 5000 रुपए

– 15 दिन बाद व 30 दिन के अंदरः 10000 रुपए

– 30 बाद व 45 दिन के अंदर- 15000 रुपए

– 45 दिन बाद व 60 दिन के अंदर- 20000 रुपए।

ऑनलाइन एलओसी के बाद लगेगा फाइन

विद्यार्थियों को रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने में सावधानी बरतनी होगी। बोर्ड के निर्देशों के अनुसार रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरने में यदि कोई त्रुटि रह गई और स्कूल की ओर से लिस्ट ऑफ कैंडिडेट (एलओसी) जमा कर दिया गया तो सुधार के लिए एक हजार रुपए फाइन देना होगा। जबकि इंटरनल असेसमेंट मार्क्स की हार्ड कॉपी निर्धारित तिथि के बाद जमा करने पर 20 हजार रुपए तक जुर्माना देना पड़ सकता है। इसके लिए भी बोर्ड ने अलग-अलग तिथि निर्धारित की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *