व्यापम घोटाले में सीबीआई ने शिवराज सिंह चौहान को दी क्लीन चिट

भोपाल। व्यापमं घोटाले में सीबीआई ने सुप्रीम कोर्ट में शिवराज सिंह चौहान को क्लीनचिट दे दी है. सीबीआई की जांच में दिग्विजय सिंह के हार्ड डिस्क से छेड़छाड़ के आरोपों को खारिज कर दिया गया है.

सीबीआई ने मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में व्यापम मामले में चार्जशीट पेश की, जिसमें 490 लोगों को आरोपी बनाया गया है. साथ ही सीबीआई ने अपनी जांच रिपोर्ट में कहा है कि जांच एजेंसियों द्वारा जब्त की गई हार्ड डिस्क के साथ किसी तरह की कोई छेड़छाड़ नहीं हुई है. सीबीआई ने हार्ड डिस्क की फोरेंसिक जांच भी कराई थी.

हाल ही में सीबीआई ने अपनी जांच में पाया था कि व्यापम घोटाले से जुड़ी मौतों पर विवाद तब पैदा हुआ जब मध्य प्रदेश पुलिस ने दाखिले और भर्ती घोटाले से जुड़े मामलों में अपनी प्राथमिकी में मृत व्यक्तियों के नाम बतौर आरोपी शामिल किए.

मध्य प्रदेश में दाखिले और भर्ती घोटाले में शामिल संदिग्धों को बचाने की कथित साजिश की जांच सीबीआई को सौंपी गई थी. जांच एजेंसी को 24 लोगों की मौत की जांच करने के लिए कहा गया था.
जांच में पाया गया कि 24 मौतों में से 16 लोगों की मौत व्यापम घोटाले में राज्य पुलिस द्वारा आरोपी बनाए जाने से काफी पहले ही हो चुकी थी. सीबीआई ने मौतों के पीछे किसी तरह की साजिश से इनकार किया है. सीबीआई ने कहा कि बाकी लोगों की मौत प्राकृतिक कारणों से हुई.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *