गेल ने ऑस्ट्रेलियाई मीडिया ग्रुप से जीता मानहानि का मुकदमा

सिडनी। वेस्टइंडीज के स्टार क्रिकेटर क्रिस गेल ने सोमवार को ऑस्ट्रेलिया के मीडिया ग्रुप फेयरफैक्स मीडिया न्यूजपेपर्स पर किया मानहानि का मुकदमा जीत लिया। न्यू साउथ वेल्स सुप्रीम कोर्ट जूरी ने इस मामले में गेल के पक्ष में फैसला सुनाया। मानहानि की राशि कितनी होगी, इसके बारे में बाद में सुनवाई होगी।

इस मीडिया ग्रुप के अखबारों ने यह दावा किया था कि 2015 विश्व कप के दौरान गेल ने महिला मसाज थेरेपिस्ट से अभद्रता की थी। इनका आरोप था कि गेल ने इस महिला के सामने टॉवेल खोलकर अभद्र बात की थी। इस ग्रुप के ‘द सिडनी मॉर्निंग हेराल्ड, ‘द एज’ और ‘द कैनबरा टाइम्स’ ने पिछले वर्ष जनवरी में इस मामले से जुड़ी कई स्टोरिज प्रकाशित की थी।

इसे भी पढ़ें-  क्यों नाराज हो गए कैप्टन कोहली?

इनकी खबरों में दावा किया गया था कि 2015 विश्व कप के दौरान सिडनी में टीम के ड्र‍ेसिंग रूम में गेल ने कथित रूप से टीम की महिला मसाज थेरेपिस्ट लियान रसेल के सामने टॉवेल खोलकर खुद को नग्न कर दिया था।

गेल ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि इस तरह की खबरों से उनकी छवि को खराब करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने इस मीडिया ग्रुप के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दर्ज किया था।

गेल के साथ चेंजिग रूप में टीम के साथी ड्‍वेन स्मिथ मौजूद थे और उन्होंने भी इन आरोपों का खंडन किया। न्यू साउथ वेल्स सुप्रीम कोर्ट जूरी ने गेल के पक्ष में फैसला सुनाया। इसके बाद गेल ने कहा, ‘मैं बहुत खुश हूं। मैं अच्छा इंसान हूं और मैं दोषी नहीं हूं।’

इसे भी पढ़ें-  14 साल के भारतीय लड़के ने किया कमाल, नेशनल शूटिंग चैंपियनशिप में जीते चार गोल्ड

इस सुनवाई के दौरान रसेल ने कहा था, ‘मैं रूम में टॉवेल देखने गई थी। उस समय गेल ने टॉवेल लपेटा हुआ था और उन्होंने उस लपेटे हुए टॉवेल को निकालते हुए मुझसे कहा था कि क्या मुझे इसकी तलाश है। इसके बाद मैं डरकर वहां से भाग गई थी।’

Leave a Reply