…तो शिवराज ने सच कहा था अमेरिका की रोड के बारे में !

भोपाल। दो दिन से भोपाल में रहकर मध्य प्रदेश की राजनीतिक नब्ज टटोलने में व्यस्त अमेरिकी महावाणिज्य दूत एडगार्ड डी कागन से जब मुख्यमंत्री शिवराज सिंह के अमेरिकी सड़कों की स्थिति पर किए टि्वट के बारे में पूछा गया तो वे बचते हुए बोले मैं दोनों स्थानों की सड़क की तुलना नहीं कर सकता।

फिर बोले- मुझे नहीं पता कि वाशिंगटन की किस सड़क से मप्र के सीएम गुजरे थे। हर शहर में कुछ सड़कें ऐसी होतीं हैं जिन पर काम किए जाने की जरूरत होती है। मुझे ऐसा लगता है कि वाशिंगटन की कुछ सड़कों पर भी काम किए जाने की जरूरत है। मप्र की सड़कों की हालत पर जब उनसे पूछा गया तो बोले अब तक जितनी भी सड़कों से गुजरा हूं वे सब अच्छी थीं। मध्य प्रदेश समेत पश्चिमी भारत की जिम्मेदारी मेरे पास होने के कारण अगले तीन साल में मप्र की सड़कें देखने का खूब मौका मिलेगा।

अमेरिकी महावाणिज्यदूत गुरुवार को एक होटल में मध्यप्रदेश के दौरे के दूसरे दिन चुनिंदा पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने बताया कि दो दिनों के दौरान प्रदेश के मुख्य सचिव और डीजीपी समेत अनेक लोगों से भेंट की। मध्यप्रदेश ट्राइबल म्यूजियम समेत कई संस्थानों का दौरा किया।

जब उनसे पूछा गया कि क्या उनकी यह यात्रा मप्र में आगामी साल होने वाले चुनाव के पूर्व आकलन के लिए है, वे बोले दोनों देशों के बीच संबंध मधुरतम दौर में हैं। दोनों ही देशों में मजबूत नेतृत्व है। हमारे विदेश मंत्री रेक्स टिलरसन की भारत यात्रा व भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से बातचीत बेहद सफल रही। ऐसे में हमारा प्रयास होता है कि पीपुल टू पीपुल कांटेक्ट भी श्रेष्ठ स्तर पर हो। लोगों को नजदीक से समझ सकें। वैसे भी द्विपक्षीय संबंधों को बेहतर बनाने के लिए राजनीतिक तौर पर कहां क्या चल रहा है इस पर निगाह तो रखनी होती ही है। भारत अमेरिकी संबंधों में मधुरता आज की नहीं है। हमारे संबंध सिर्फ ट्रांजेक्शंस पर आधारित नहीं हैं, दीर्घकालिक है।

एच1बी वीजा नियमों में कड़ाई से आई प्रोफेशनल्स को होने वाली दिक्‍कतों के बारे में पूछे जाने पर वे बोले- इस बारे में फैसले तो केंद्रीय नेतृत्व को करने होते हैं। जहां तक मेरी जानकारी है एच1बी वीजा की मूल शर्तों में कोई बड़ा परिवर्तन नहीं किया गया है, सिर्फ मॉनीटरिंग बढ़ाई गई है ताकि कतिपय कंपनियां इनका दुरुपयोग न कर सकें। दोनों देश व्यापार को एक नए स्तर पर ले जाने के लिए ईज ऑफ डूइंग बिजनेस पर काम कर रहे हैं। युवा आंत्रप्रन्योरशिप बढ़ाने के मसले पर भी हम संयुक्त रूप से काम कर रहे हैं।

आपसी सहयोग बढ़ाने पर जोर

अमेरिका के महावाणिज्य दूत ऐडगर कागन ने मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह से बुधवार को मुलाकात की। इसमें उनका जोर आपसी सहयोग बढ़ाने पर रहा। उन्होंने निवेश की संभावनाओं के साथ तकनीक, शिक्षा तथा स्वास्थ्य के क्षेत्र मे आपसी सहयोग की संभावनाओं पर बात की।

मंत्रालय के अधिकारियों ने बताया कि मध्यप्रदेश में निवेश की अपार संभावनाएं हैं। मुख्य सचिव ने उन्हें प्रदेश की नीतियों के साथ योजनाओं के बारे में बताया। अमेरिकी महावाणिज्य ने दूत ने प्रदेश के पुलिस माहनिदेशक ऋषि शुक्ला से भी मुलाकात की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *