घर से भागे, प्रेम विवाह किया, वापस लौटे और खा लिया जहर

उमरियापान/कटनी। (विवेक शुक्ला) उमरियापान से लगे बरही गांव में गोवा से प्रेम विवाह कर वापस लौटे प्रेमी युगल के द्वारा देर रात जहर खाने का मामला प्रकाश में आया है। प्रेमीयुगल को गंभीर हालत में उमरियापान शासकीय अस्पताल लाया गया। जहां उपचार दौरान प्रेमी की मौत हो गई जबकि बेहद गंभीर हालत में प्रेमिका को गहन उपचार के लिए जबलपुर रिफर किया गया है। पुलिस ने मृत प्रेमी का शवपरीक्षण कराते हुए मर्ग कायम कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

छाया के के चौरिसया
शव के पास जांच करती पुलिस – छाया के के चौरिसया

घटना के संबंध में हमारे उमरियापान संवाददाता के.के. चौरसिया से मिली जानकारी के मुताबिक बरही निवासी सुखलाल कोल की पुत्री नेहा व जेठूराम चौधरी का पुत्र संदीप चौधरी लगभग दो माह पूर्व एक साथ जीने मरने की कसमें खाकर घर से भाग गए थे। ग्रामीणों के मुताबिक लगभग दो माह तक घर परिवार से दूर यहां-वहां घूमते-फिरते नेहा और संदीप ने गोवा में प्रेम विवाह किया और फिर बीते रविवार को गांव वापस लौटे। प्रेम विवाह कर गांव वापस लौटने के बाद नेहा व संदीप सोमवार की सुबह रोजगार व काम धंधे की तलाश में सिहोरा व आसपास के क्षेत्र में निकल गए।

छाया के के चौरिसया
अस्‍पताल में इलाजरत प्रेमिका – छाया के के चौरिसया

बताया जाता है कि नेहा व संदीप सोमवार को पूरा दिन काम धंधे की तलाश में यहां-वहां भटकते रहे और जब उन्हे कहीं कोई काम धंधा नहीं मिला तो शाम को फिर गांव वापस लौट आए। इसके बाद ही दोनों ने एक साथ सोमवार की रात लगभग 12 से 1 बजे के बीच विषपान कर लिया। सुबह चार से पांच बजे के बीच दोनों गांव स्थित तालाब की मेड़ पर उल्टियां करते व तड़पते मिले। लिहाजा तत्काल ग्रामीणों ने इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही उमरियापान थाना प्रभारी नितिन कमल पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए और दोनों को डायल 100 में लेकर उमरियापान शासकीय अस्पताल लेकर पहुंचे। जहां चिकित्सकों ने संदीप को देखते ही मृत घोषित कर दिया जबकि नेहा का प्रारंभिक उपचार करने के बाद उसे गहन उपचार के लिए जबलपुर रिफर कर दिया। गोवा से प्रेम विवाह कर वापस लौटे संदीप व नेहा ने यह आत्मघाती कदम किन कारणोंवश उठाया। अभी इस बात का खुलासा नहीं हो सका है। पुलिस ने संदीप का शवपरीक्षण कराते हुए मर्ग कायम कर मामले को जांच में लिया है।
खुले आसमान के नीचे उठाया आत्मघाती कदम
एक जानकारी में ग्रामीणों ने यह भी बताया कि घर से भाग कर प्रेम विवाह किए जाने के कारण नेहा व संदीप दोनों के परिजन नाराज थे तथा उन्होंने गांव वापस लौटने पर उन्हे घर में पनाह नहीं दी थी। जिसके कारण सोमवार को काम धंधा नहीं मिलने पर दोनों वापस गांव लौटने के बाद तालाब के पास आकर बैठ गए थे और देररात तालाब की मेड़ पर ही दोनों ने विषपान कर लिया और आज मंगलवार की तड़के खुले आसमान के नीचे दोनों ग्रामीणों को तड़पते हुए मिले।
नेहा की गुमशुदगी दर्ज थी थाने में-थाना प्रभारी
उमरियापान थाना प्रभारी नितिन कमल ने बताया कि लगभग दो माह पूर्व नेहा के अचानक लापता होने पर परिजनों के द्धारा इस बात की सूचना थाने में दी थी। पुलिस ने नेहा की गुमशुदगी दर्ज कर मामले की जांच के दौरान अज्ञात के विरूद्ध अपहरण का मामला धारा 363 के तहत भी दर्ज किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *