भारी भरकम बिजली बिलों को लेकर दफ्तर में हंगामा

कटनी। बिजली बिलों को लेकर आज सुबह से एमपीईबी दफ्तर में जमकर हंगामा मचा दरअसल लोगों के भारी भरकम बिल आने के कारण लोग आक्रोशित हुए थे। उपभोक्ताओं ने आरोप लगाया कि दो माह तक रीडिंग नहीं लेने के बाद अचानक फोटो रीडिंग लेते हुए एमपीईबी अधिकारियों ने कटनी के उपभोक्ताओं को लूटने की कोशिश की है। लोगों का आरोप था कि मीटर रीडरों की हड़ताल के चलते रीडिंग नहीं हो सकी थी। जिस पर एमपीईबी ने मन से रीडिंग लिख कर बिल जनरेट कर दिये थे, लेकिन फिर फोटो रीडिंग कराई इसमें आम उपभोक्ताओं को इस माह अचानक भारी भरकम बिल आ गया। कई गरीब उपभोक्ता परेशान हैं। एमपीईबी में बिल लेकर कुछ उपभोक्ताओं के हाथा में 2-2 लाख रूपये के बिल थे। जबकि यह उपभोक्ता बमुश्किल 500 यूनिट का लोड लेकर रखे हैं। उपभोक्ताओं का आरोप था कि बिजली विभाग ने गलत बिल भेजे और यह गड़बड़ी फोटो रीडिंग के बाद से ही हुई।बिजली बिल एटीपी में जमा नहीं हो पा रहे इसका कारण बताया कि पिछले कई दिनों से आनलाइन अपडेट पर काम चल रहा है जिस कारण एटीपी में बिल जनरेट नहीं हुए। केवल एमपीईबी की वेबसाईट में ही बिल की जानकारी उपलब्ध है। इसके अलावा बिल आनलाइन जमा करने का आप्सन भी उपलब्ध है लेकिन इस बारे में आम उपभोक्ताओं को न तो जानकारी है न ही वह आनलाइन ट्रांजेक्शन कर सकते। इधर एमपीईबी में मौजूद अधिकारी भी साफ जवाब दे रहे हैं कि बिल आनलाइन जमा कराओ पर आम उपभोक्ता कैसे आनलाइन जमा कराये यह उसे समझ नहीं आ रहा।इधर मेन्यूली कांउटर पर महज तीन व्यक्ति की बैठे थे। और बिल जमा कराने वाले हजारों लोगों की भीड़ दरअसल चार दिन की छुट्टी के बाद आज ही आफिस खुले थे और इसी के चलते भीड़ भाड़ ज्यादा हो गई थी।

इनका कहना
बिलों को लेकर किसी भी शिकायत के लिए कटनी में एसई और डीई को निर्देशित किया गया है। बिलों में किसी भी तरह की समस्या हो तो उपभोक्ता इसकी शिकायत कार्यालय में कर सकता है। एटीपी मशीनों में अपडेटिंग के कारण कुछ समस्या आईं लेकिन उन्हे दुरूस्त कर लिया गया। उपभोक्ताओं को आन लाइन भुगतान के प्रति भी जागरूक होना चाहिए।
अनिल कुमार पांडे
मुख्य अभियंता, जबलपुर संभाग

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *