महिलाओं में होने वाला ओवरियरन कैंसर जानलेवा बीमारीइ इनको ज्यादा खतरा

वूमन डेस्‍क। महिलाओं में होने वाला ओवरियरन कैंसर एक खतरनाक और जानलेवा बीमारी है। इसके कारण महिलाओं के गर्भाश्य और उसमें मौजूद ट्यूब्स नष्ट होने लगते हैं। वैसे महिलाओं को यह कैंसर किसी भी उम्र में हो सकता है लेकिन 40 की उम्र के बाद महिलाओं में इसका खतरा बढ़ जाता है। 60 प्रतिशत महिलाओं को इस बीमारी की जानकारी एडवांस स्टेज में होती है, जिसका एक बड़ा कारण जागरूकता की कमी है। समय रहते इसका इलाज करवाने पर महिलाओं की जान बच सकती हैं। इसलिए बेहतर होगा कि इसके शुरुआती लक्षणों को नजरअंदाज ना करें और तुरंत डॉक्टर से चेकअप करवाएं। आइए जानते हैं क्या है इसके लक्षण।

 

किन महिलाओं को है ज्यादा खतरा?
40 साल की उम्र से पहले स्तन कैंसर होने पर ओवेरियन कैंसर होने का खतरा बढ़ जाता है। इतना ही नहीं, इन्फर्टिलिटी का लंबा ट्रीटमेंट चलने से भी इस बीमारी का खतरा बढ़ सकता है। इसके अलावा बच्चा न होना या एंडोमेट्रियोसिस का निदान करने वाली महिलाओं में भी ओवरियरन कैंसर की संभावना ज्यादा होती है।

इसे भी पढ़ें-  टीबी रोगियों के लिये अच्छी खबर, अब लेनी होगी केवल एक गोली

ओवेरियन कैंसर के संकेत
1. पीरियड रेग्युलर ना होना
रेग्युलर पीरियड्स न होने को नजरअंदाज ना करें क्योंकि यह ओवेरियन कैंसर का संकेत हो सकता है। इसके अलावा गर्भधारण करने में समस्या आ रही है तो आपको तुरंत इस कैंसर का टेस्ट करवाना चाहिए।
2. पेल्विक पेन
अगर आपको कमर में दर्द या पेल्विक पेन होता है तो तुरंत ओवेरियन कैंसर की जांच करवाए। इसके अलावा खट्टी डकारें आना, बार-बार पेशाब आना और संभोग करते समय दर्द की शिकायत भी इस बीमारी का संकेत हो सकते हैं।

3. पेट फूलना
अचानक मोटापा बढ़ना या पेट फूलना भी ओवेरियन कैंसर का लक्षण हो सकता है। इसके अलावा इस कैंसर में पेट में बहुत अधिक गैस बनने लगती है और दस्त रहते हैं।
4. सांस लेने में परेशानी
अगर आपको अचानक से बार-बार सांस लेने में पेरशानी होती है तो इसे हल्के में ना लें। ओवेरियन कैंसर के दौरान बिना काम किए भी आपको सांस चढ़ने लगती है।
5. भूख न लगना
अगर आपको 3 हफ्तों से भूख कम लग रही है या थोड़ा खाने पर भी पेट भरा लगता है तो अपने डॉक्टर से बात करें। यह कैंसर का संकेत हो सकता है।

इसे भी पढ़ें-  हेल्थ सप्लीमेंट से ठीक हो सकती हैं बीमारियां

6. बार-बार यूरिन आना
कम पानी पीने के बावजूद भी आपको बार-बार पेशाब आ रहा है तो सतर्क हो जाएं। इसके अलावा अगर आपको बार-बार अचानक तेज बाथरूम आए या यूरिन करते समय जलन हो तो यह ओवरियन कैंसर का संकेत हो सकता है।
फर्स्ट स्टेज पर इन घरेलू तरीकों से करें इलाज
1. औषधिए गुणों से भरपूर अदरक का सेवन कई बीमारियों को दूर करता है। हाल में एक कैंसर रिसर्च एसोसिएशन ने बताया कि रोजाना अदरक पाउडर का सेवन ओवेरियन कैंसर को जड़ से खत्म कर देता है।
2. अजवायन तेल फेफड़े, डिम्बग्रंथि, ओवेरियन और स्तन कैंसर की कोशिकाओं को मारने में मदद करता है। भोजन में इसका इस्तेमाल कैंसर के खतरे से बचाता है।
3. अलसी के बीजों में मौजूद फाइबर कैंसर जैसी बीमारियों से लड़ने में मदद करता हैं। इसके अलावा इस तेल की कुछ बूंदे दूध में डालकर पीने से भी कैंसर का खतरा कम होता है।

इसे भी पढ़ें-  धनतेरस 2017, धनतेरस पर क्या खरीदें, धरतेरस धन मंत्र ...

Leave a Reply