लंदन। न्यूजीलैंड के मार्टिन गप्टिल ने नार्थेम्पटन में टी20 ब्लास्ट टूर्नामेंट में वारसेस्टरशायर की तरफ से नार्थेम्पटनशायर के खिलाफ तूफानी शतक लगाया। उन्होंने मात्र 35 गेंदों में शतक जड़ दिया, यह टी20 क्रिकेट इतिहास का संयुक्त रूप से चौथा तेज शतक हैं।

गप्टिल ने धीमी शुरुआत करते हुए शुरुआती 7 गेंदों में मात्र 3 रन बनाए थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने चौकों-छक्कों की झड़ी लगा दी। उन्होंने देखते ही देखते 35 गेंदों में 12 चौकों और 7 छक्कों की मदद से शतक बनाया। वे 38 गेंदों में 102 रन बनाकर आउट हुए। उन्होंने जो क्लार्क (61 रन नाबाद, 33 गेंद) के साथ पहले विकेट के लिए 162 रनों की भागीदारी कर वारसेस्टरशायर को जीत के करीब पहुंचा दिया। 188 रनों के लक्ष्य को इस टीम ने 7 ओवर शेष रहते 1 विकेट खोकर हासिल कर लिया।

इसे भी पढ़ें-  पाकिस्तानी लड़की अलिश्बा आई सामने, बताया मोहम्मद शमी से क्या है उसका रिश्ता

गप्टिल ने 35 गेंदों में शतक लगाया, यह टी20 ब्लास्ट टूर्नामेंट के इतिहास का दूसरा सबसे तेज शतक है। सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड ऑस्ट्रेलियाई खिलाड़ी एंड्रयू साइमंड्स। के नाम दर्ज है जिन्होंने 2004 में 34 गेंदों में शतक जड़ा था। यह टी20 क्रिकेट का संयुक्त रूप से चौथा तेज शतक है। सबसे तेज शतक का रिकॉर्ड क्रिस गेल के नाम दर्ज है जो उन्होंने रॉयल चैलेंजर्स बंगलोर (आरसीबी) की तरफ से आईपीएल 2013 में पुणे वॉरियर्स के खिलाफ लगाया था।

इससे पहले नार्थेम्पटनशायर ने 9 विकेट पर 187 रन बनाए थे। रिचर्ड लेवी ने 39 और स्टीवन क्रूक ने 33 रन बनाए। इसके जवाब में वारसेस्टरशायर ने 13.1 ओवर में 1 विकेट खोकर लक्ष्य हासि

इसे भी पढ़ें-  अब कोचिंग में करियर बना रही पूर्व अंतरराष्ट्रीय शूटर पूर्णिमा