दो साल की मासूम से ज्यादती: आरोपी को फांसी की मांग को लेकर लोगों ने निकाला मार्च

गया। बिहार के गया में विष्णुपद थाना के माड़नपुर में दो साल की मासूम बच्ची के साथ ज्यादती के आरोपी को फांसी की मांग को लेकर लोगों ने आजाद पार्क से डीएम कार्यालय तक मार्च निकाला और पुलिस और प्रशासन के खिलाफ नारे लगाये. आवेदक के द्वारा विरोध प्रदर्शन को लेकर सोशल मीडिया में किये गये पोस्ट पर डीएम और एसएसपी द्वारा आपत्ति किये जाने पर सदर एसडीओ ने विरोध मार्च की अनुमति को वापस ले लिया. जिससे पीड़ित बच्ची के परिजन नाराज हो गये और प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी करते हुए आजाद पार्क से विरोध मार्च निकाला.

इस मार्च में सैकड़ों की संख्या में अन्य महिला पुरूष और युवति प्रत्यक्ष और परोक्ष रूप से शामिल हुए. इस मार्च को कोतवाली थाना के पास सदर डीएसपी के नेतृत्व में रोकने की भी कोशिश की गयी, जिसमें दोनों तरफ से तीखी बहस हुई और परिजनों ने पुलिस पर सही ढंग से काम नहीं करने का आरोप भी लगाया. यह विरोध मार्च डीएम कार्यालय तक आया और गेट के सामने सड़क जाम कर प्रदर्शन किया गया.

इसे भी पढ़ें-  निर्भया कांड: 5 वर्ष फिर भी जख्म हरे

कोतवाली थाना से डीएम कार्यालय तक कई थाना की पुलिस सदर डीएसपी के नेतृत्व में साथ चलती रही.  डीएसपी राजकुमार शाह ने कहा कि पुलिस आरोपी को गिरफ्तार कर चुकी है और स्पीडी ट्रायल के जरिये वह सजा दिलाने का तैयारी कर रही है. इसलिए विरोध प्रदर्शन की जरूरत ही नहीं है. ऐसे में बिना आदेश के प्रतिरोध मार्च निकालने वालों पर पुलिस नियम के अनुसार कार्रवाई करेगी.

गौरतलब है कि मंगलवार की दोपहर में विष्णुपद के माड़नपुर में दो साल की मासूम बच्ची के साथ दुष्कृत्य  की घटना सामने आयी थी. जिसके बाद पीड़ित के परिजन और स्थानीय लोगों ने आरोपी की जमकर पिटाई करने के बाद पुलिस के हवाले कर दिया था. वहीं आरोपी को छुड़ाने के लिए उनसके सहयोगियों ने पीड़ित परिवार के साथ मारपीट की थी. इसलिए पीड़ित बच्ची के परिवार की मांग है कि आरोपी को फांसी के साथ ही उसका साथ देने वाले परिवार के सदस्य पर भी कार्रवाई की जाये.

Leave a Reply