क्या आप जानते है नयी गाड़ियों की नंबर प्लेट पर लिखे A/F का मतलब क्या होता है ?

दोस्तों आप ये तो जानते होंगे की भारत में कोई भी गाडी खरीदने के बाद रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य है और भारत में प्रत्येक वाहन को मोटर वाहन अधिनियम 1989 के तहत पंजीकृत किया जाता है। जब भी आप कोई वहां खरीदते है चाहे तो दोपहिया हो ,तिपहिया हो या फिर चार पहिया गाडी हो लेकिन रोड पर चलाने से से पहले उसपर नंबर होना अनिवार्य है।
इसके लिए गाडी को शोरूम से निकलते वक्त टेम्पररी नंबर दिया जाता है। लेकिन कई बार आपने देखा होगा की नयी गाड़ियों पर नंबर नहीं लिखा होता और अंग्रेजी भाषा में A/F लिखा होता है। पर इसका मतलब क्या होता है ये जानते है आप ? अगर नहीं तो हम आपको बता देते है इस शब्द का मतलब होता है अंग्रेजी में एप्लाइड फॉर (Applied For), यानी गाडी मालिक द्वारा रजिस्ट्रेशन नंबर के लिए अप्लाई किया जा चुका है।
भारतीय मोटर वहां नियमों के अनुसार अगर किसी व्यक्ति को उसकी गाडी के लिए रजिस्ट्रेशन नंबर नहीं मिला है तो उसे नंबर प्लेट पर A/F या Applied For लिख कर वाहन चलाने की अनुमति प्रदान की जाती है।
आपको बता दें की ये अनुमति सिर्फ एक सप्ताह यानी 7 दिनों के लिए ही दी जाती है। परमानेंट नंबर मिलने के बाद आपको नंबर प्लेट पर नंबर लिखवाना अनिवार्य है। अगर आप ऐसा नहीं करते तो आपका नियमों के अनुसार चालान किया जा सकता है।
हाल ही में की गयी जांच में पाया गया की काफी संख्या में लोगों ने एक महीने से अधिक समय होने पर भी अपनी गाडी का रजिस्ट्रेशन नंबर प्राप्त नहीं किया था। ऐसे मामलों में लोग अधिकतर गाड़ियों के डीलर की कमियां निकलते है।
लेकिन आपको ये भी बता दें की अगर आपकी गाडी के रजिस्ट्रेशन नंबर के लिए आपका वाहन डीलर एक सप्ताह से ज्यादा का वक्त लगाता है तो आप इसकी शिकायत अपने क्षेत्रीय रतो अफसर से कर सकते है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *