पकौड़ा विवाद के बाद केंद्रीय मंत्री ने दी अचार औऱ मुरब्बा बेचकर तकदीर बनाने की सलाह

भोपाल। पकौड़ा विवाद के बाद केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री ने गुरुवार को लोगों को सलाह देते हुए कहा कि अगर कोई सही दिशा में सोचे तो अचार और मुरब्बा बेचकर भी अपनी तकदीर बना सकता है.

केंद्रीय कृषि राज्य मंत्री गजेन्द्र सिंह शेखावत भोपाल में प्रदेश बीजेपी कार्यालय में मुद्रा लोन को लेकर मीडिया से बात कर रह थे. शेखावत ने कहा, ‘सिर्फ पकौड़ा नहीं, अचार औऱ मुरब्बा बनाना भी रोज़गार है. राजस्थान में मेरे एक दोस्त की पत्नी मुद्रा से लोन लेकर अचार, मुरब्बा बनाकर दो करोड़ रुपए का कोराबार कर रही हैं.’

मंत्री ने यह बात पकौड़ा बेचकर रोजगार करने के संबंध में पूछे गए एक सवाल पर कही. केंद्रीय मंत्री ने कहा, ‘आप पकौड़ा की बात कर रहे हैं. मैं अचार की बात बताता हूं. मेरे एक मित्र हैं. बहुत ही साधारण कार्यकर्ता हैं. उनकी जो पत्नी हैं, उनके हाथ में भगवान का दिया जादू है. वो ऐसा अचार औऱ मुरब्बा बनाती हैं कि कोई आदमी दो रोटी खाता है तो पांच के बिना नहीं रुकेगा. मैंने कहा कि व्यावसायिक उत्पादन करो. उनको मुद्रा से लोन मिला, तो दो साल में उनके कारोबार का टर्नओवर आज 2 करोड़ से ज़्यादा का हो गया है. ऐसे हजारों उदाहरण हैं.’

उन्होंने दावा किया कि केंद्र में बीजेपी सरकार आने के बाद देश में रोजगार के अवसर बढ़े हैं. देश में 14 करोड़ लोगों को मुद्रा बैंक के लोन मिले हैं.

इसे भी पढ़ें-  देवी अहिल्या विश्वविद्यालय में NSUI का उत्पात, प्रशासनिक भवन में की तोड़फोड़

शेखावत के अचार बेचकर रोजगार करने का सुझाव कांग्रेस को रास नहीं आया. मध्य प्रदेश विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह ने कहा, ‘मंत्री का बयान पूरी तरह से गैर जिम्मेदाराना है. युवाओं को प्रतिवर्ष दो करोड़ रोजगार देने का वादा करने वाली केंद्र सरकार के वह मंत्री हैं और अब उनको पकौड़ा के बाद  अचार और मुरब्बा बेचने की सलाह दे रहे हैं. यह युवाओं के साथ एक मजाक है.’

Leave a Reply