FIFA WC : फ्रांस के खिलाफ मैच में छुपा है अर्जेंटीना के फाइनल में पहुंचने का राज

कजान। फीफा वर्ल्ड कप 2018 में शनिवार को दो अहम प्री-क्वाटर्ऱ फाइनल मुकाबले खेले जाएंगे। जहां पहले मैच में दो पूर्व चैंपियन टीमें अर्जेंटीना और फ्रांस आमने-सामने होंगी। वहीं दूसरे मैच में उरुग्वे की टक्कर पुर्तगाल से होगी।

दो बार के वर्ल्ड चैंपियन अर्जेंटीना के लिए अब तक का सफर आसान नहीं रहा है। अर्जेंटीना बड़ी मुश्किल से प्री-क्वार्टर फाइनल तक पहुंचा है। अपने आखिरी मैच में स्टार स्ट्राइकर मैसी की बदौलत टीम नाइजीरिया को 2-1 से हराने में कामयाब रही और अंतिम-16 का टिकट कटाया। वहीं फ्रांस ने ग्रुप ‘सी’ में 7 अंकों के साथ शीर्ष पर रहते हुए नॉकआउट दौर के लिए क्वालीफाई किया था।

फ्रांस के खिलाफ अर्जेंटीना का अच्छा रिकॉर्ड

पॉल पोग्बा और ग्रीजमैन की बदौलत फ्रांस का दावा मजबूत नजर आ रहा है। मगर जिस तरह से अर्जेंटीना ने अंतिम-16 में जगह बनाई है, वो भी किसी कीमत में इसे गंवाना नहीं चाहेगी। आंकड़े भी अर्जेंटीना के पक्ष में नजर आ रहे हैं। दोनों टीमें फुटबॉल महाकुंभ में दो बार आमने-सामने आ चुकी हैं। 1930 में जब पहली बार फ्रांस और दक्षिण अमेरिकी देश अर्जेंटीना का मुकाबला हुआ था, तो बाजी अर्जेंटीना ने जीती थी। वहीं दूसरी बार 1978 में ये दोनों टीमें आपस में भिड़ीं और इस बार भी अर्जेंटीना ने 2-1 से अपने नाम जीत दर्ज की।

इसे भी पढ़ें-  फाइनल में सायना ने सिंधु को हराकर जीता गोल्ड, सिल्वर भी भारत का

40 साल बाद दोनों टीमें होंगी आमने-सामने

इसके बाद से इन दोनों टीमों के बीच फुटबॉल वर्ल्ड कप में कोई मुकाबला नहीं हुआ। मगर कोई दूसरा दक्षिण अमेरिकी देश फ्रांस को नहीं हरा सका। जबकि इस दौरान आठ बार उसका सामना किसी न किसी दक्षिण अमेरिकी देश से हुआ। ऐसे में इतिहास फिर उसी जगह खड़ा है। मगर खेल के मैदान में पुराने रिकॉर्ड बेमानी लगते हैं।

शनिवार को दोनों टीमें 12वीं बार आमने-सामने होंगी। रिकॉर्ड पर नजर डालें तो दक्षिण अमेरिकी टीम अर्जेंटीना का पलड़ा भारी रहा है। अर्जेंटीना ने 6 बार फ्रांस को हराया तो वहीं दो बार इसे हार का सामना करना पड़ा है। दोनों टीमों के बीच 4 मुकाबले ड्रॉ रहे हैं।

नॉक आउट स्टेज में मैसी का खराब रिकॉर्ड

अपने पिछले 13 वर्ल्ड कप में अर्जेंटीना ने 12 बार पहले दौर की बाधा पार की है, सिर्फ 2002 में टीम को हार का सामना करना पड़ा था। अर्जेंटीना की सबसे बड़ी उम्मीद लियोनेल मैसी से है। मगर नॉक आउट स्टेज में उनका रिकॉर्ड अच्छा नहीं है। मैसी आज तक वर्ल्ड कप के नॉक आउट स्टेज में गोल नहीं दाग सके हैं। जबकि वो 666 मिनट तक मैदान पर रहे हैं। वो अर्जेंटीना के आखिरी खिलाड़ी हैं, जिसने फ्रांस के खिलाफ गोल किया है।

इसे भी पढ़ें-  न्यूजीलैंड के साथ आज पहला ODI, भारत का पलड़ा भारी

साल 2009 में एक प्रदर्शनी मैच में मैसी ने इस टीम के खिलाफ गोल दागा था। वहीं मैसी तीन अलग-अलग विश्व कप में अपने देश के लिए गोल दागने वाले तीसरे खिलाड़ी हैं। इससे पहले डिएगो माराडोना ने( 1982, 1986, 1994) के वर्ल्ड कप में गोल दागा था। उसके अलावा ग्रेबिएल बतिस्तुता ने( 1994, 1998, 2002) ने भी ये कारनामा किया था।

फ्रांस की टीम में ओस्माने देम्बेले की जगह पेरिस सेंट-जर्मेन के कायलियान मबापे को मौका मिलने की उम्मीद है। एंटोइन ग्रीजमैन पर टीम काफी हद तक निर्भर करेगी। नाबिल ‍फकिर ने डेनमार्क के खिलाफ स्थानापन्न खिलाड़ी के रूप में उतरने के बाद शानदार प्रदर्शन किया था। राइट बैक के रूप में बेंजामिन पेवार्ड की बजाए डिब्रिल सिडिबे को उतारे जाने का अनुमान है। कोच डिडिएर डिश्चैंप को पॉल पोग्बा से भी शानदार प्रदर्शन की उम्मीद रहेगी।

इसे भी पढ़ें-  KKR ने राजस्थान को 6 विकेट से हराया, प्लेआॅफ में पहुंचने की उम्मीदें बरकरार

अर्जेंटीना टीम ने कोच जॉर्ज साम्पोली के खिलाफ बगावत की हुई है और ऐसा माना जा रहा है कि वे औपचारिक कोच बनकर रह गए हैं। इस मैच में अर्जेंटीना द्वारा उसी शुरुआती लाइनअप को मैदान में उतारा जाएगा जो नाइजीरिया के खिलाफ खेली थी। गोंजालो हिगुईन की जगह क्रिस्टियनन पेवोन को उतारा जा सकता है।

प्री-क्वार्टर फाइनल लाइन-अप

  • 30 जून : फ्रांस वि. अर्जेंटीना शाम 7.30 बजे
  • 30 जून : उरुग्वे वि. पुर्तगाल रात 11.30 बजे
  • 1 जुलाई : स्पेन वि. रूस शाम 7.30 बजे
  • 1 जुलाई : क्रोएशिया वि. डेनमार्क रात 11.30 बजे
  • 2 जुलाई : ब्राजील वि. मैक्सिको शाम 7.30 बजे
  • 2 जुलाई : बेल्जियम वि. जापान रात 11.30 बजे
  • 3 जुलाई : स्वीडन वि. स्विट्‍जरलैंड शाम 7.30 बजे
  • 3 जुलाई : कोलंबिया वि. इंग्लैंड रात 11.30 बजे

Leave a Reply