लहसुन व लौंग की सेंव,काजू कतली की खासी डिमांड

जबलपुर। दीपोत्सव का आगाज धनतेरस से हो रहा है। महापर्व को देखते हुए मिठाई के साथ नमकीन की भी जमकर खरीदी हो रही है। व्यापारियों के अनुसार धनतेरस से दीपावली तक शहर में 8 टन से ज्यादा मिठाई का कारोबार होगा। वहीं नमकीन के लिए लहसुन व लौंग की सेंव के साथ काजू कतली की खासी डिमांड अभी से बनी हुई है। इसे देखते हुए शहर की दुकानों पर मिठाई बनाने का काम शुरू कर दिया गया। वहीं मिलावट की आशंका को देखते हुए डॉक्टरों ने सस्ते अनब्रांडेड पैकिंग वाले नमकीन-मिठाई से परहेज करने की सलाह दी है। त्योहार पर घर आने वाले मेहमानों की खातिरदारी के लिए लोग मिठाई के साथ नमकीन भी खरीदेंगे। लेकिन जरा संभलकर, सस्ते दाम के फेर में ऐसे व्यंजन न खरीदें, जो आपकी सेहत बिगाड़ दे। शहर में मिठाई की छोटी-बड़ी मिठाई की दुकानों पर चहल-पहल शुरू हो गई है। शहर में इन दिनों नमकीन के दाम 150 से 200 रुपए किलो तक बिक रहा है, वहीं मिठाई के दाम 200 से 800 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गए। व्यापारियों के अनुसार लोगों में काजू कतली की खासी डिमांड बनी हुई है।
ऐसे परखें मिठाई-नमकीन की शुद्धता
बाजार में बिकने वाले नमकीन व मिठाई को लोग खुद परख सकते हैं। मूंगफली तेल व शुद्ध बेसन से बने नमकीन में हल्का मीठापन रहता है, जो बेहतर नमकीन की पहचान कराता है। साथ ही इसकी महक कुछ अलग होती है। वहीं पाम ऑइल व मटर बेसन से बने नमकीन में कड़वाहट रहती है, जो सेहत के लिए हानिकारक है। इसी प्रकार मिठाई को भी खुशबू व मावे का स्तर देख परखा जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *