आरुषि तलवार की दोस्त ने तोड़ी चुप्पी, उठाए ऐसे सवाल

नोएडा। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने गुरुवार को नौ साल पुराने नोएडा के आरुषि-हेमराज मर्डर केस में तलवार दंपती को बरी कर दिया। सीबीआई कोर्ट ने आरुषि के पैरेंट्स राजेश और नूपुर तलवार को 2013 में उम्रकैद सुनाई थी। तब से वो जेल में थे। उन्होंने इसके खिलाफ हाईकोर्ट में पिटीशन दायर की थी।

आरुषि तलवार के क्लासमेट्स (दोस्तों) ने 2008 के नोएडा में हुए डबल हत्या के मामले में अपनी चुप्पी तोड़ी है। आरुषि के कुछ दोस्तों ने कहा कि नौ सालों से उसके चरित्र पर संदेहास्पद सवाल खड़े किए जा रहे हैं। उनका दावा है कि आरुषि के मोबाइल फोन से प्राप्त हुए सभी संदेशों को उत्तर प्रदेश पुलिस और मीडिया ने गलत तरीके से पेश किया।

इसे भी पढ़ें-  जस्टिस नरेश गुप्ता बने प्रदेश के नए लोकायुक्त

जो व्यक्ति अब जीवत नहीं है, उसके चरित्र की हत्या करना सही नहीं है। आरुषि की दोस्त सहाय ने कहा कि मुझे लगता है कि मीडिया ने पूर्वाग्रह के आधार पर तेरह साल की लड़की को ऐसे पेश किया गया, जिसका हेमराज जैसे उम्रदराज व्यक्ति के साथ शारीरिक संबंध था।

सहाय ने कहा कि वह आरुषि की करीबी दोस्त थी क्योंकि वह भी अपने माता-पिता की एकलौती संतान थी। वह स्कूल में एक जिम्मेदार लोकप्रिय लड़की थी और पुलिस ने जैसी कहानी बताई है, आरुषि को वैसा कुछ करने की जरूरत नहीं थी।

23 साल की दोस्त ने मीडिया से सवाल किया कि यदि अंकल और आंटी ने यह नहीं किया, तो वे कौन लोग हैं, जो इस हत्याकांड में शामिल थे। सहाय ने कहा कि अभी तक की गई जांच का मकसद वास्तविक अपराधी को ट्रैक करना नहीं था। इसका मकसद यह पता करना था कि क्या उसके माता-पिता ने अपराध किया है या नहीं।

इसे भी पढ़ें-  सभ्रांत परिवारों की युवतियां बॉयफ्रेंड के लिए खरीदती थी कोकीन

गौरतलब है कि नवंबर 2013 में राजेश और नूपुर तलवार को आरुषि की हत्या का दोषी ठहराते हुए उम्रकैद की सजा सुनाई गई। मगर, कई आलोचकों ने तर्क दिया कि यह फैसला कमजोर सबूत पर किया गया था। तलवार दंपति ने इलाहाबाद उच्च न्यायालय के फैसले को चुनौती दी है, जिसने गुरुवार को उन्हें संदेह का लाभ देकर बरी कर दिया।

11 thoughts on “आरुषि तलवार की दोस्त ने तोड़ी चुप्पी, उठाए ऐसे सवाल

  • December 10, 2017 at 2:51 AM
    Permalink

    I’ll right away clutch your rss feed as I can not find your email subscription link or newsletter service. Do you’ve any? Kindly allow me know so that I could subscribe. Thanks.

  • December 14, 2017 at 12:29 PM
    Permalink

    The root of your writing whilst appearing agreeable at first, did not sit well with me after some time. Someplace throughout the paragraphs you were able to make me a believer but only for a short while. I still have got a problem with your jumps in logic and you might do well to fill in those gaps. If you actually can accomplish that, I could certainly end up being impressed.

  • December 16, 2017 at 3:22 AM
    Permalink

    Heya, you’re certainly right. I constantly go through your posts closely. I am also fascinated with general dentistry, maybe you could discuss this from time to time. I will be back soon.

  • December 17, 2017 at 8:29 AM
    Permalink

    I’m actually loving the theme of your weblog. Do you ever encounter any kind of browser compatibility troubles? A few of the blog readers have complained about my free movie streaming site not working properly in Explorer yet looks great in Chrome. Are there any kind of suggestions to assist repair this situation?

  • January 5, 2018 at 2:28 AM
    Permalink

    Hey I know this is off topic but I was wondering if you knew of any widgets I could add to my blog that automatically tweet my newest twitter updates. I’ve been looking for a plug-in like this for quite some time and was hoping maybe you would have some experience with something like this. Please let me know if you run into anything. I truly enjoy reading your blog and I look forward to your new updates.

Leave a Reply