रोहिंग्या समर्थकों की पृष्टभूमि को समझना होगा : भैयाजी जोशी

भोपाल। राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) की तीन दिनी बैठक के दौरान संघ सर कार्यवाह भैयाजी जोशी ने कहा कि रोहिंग्या समर्थकों की पृष्टभूमि को समझना होगा। जोशी ने कहा कि हमारे देश से किसी को भी दबाव बनाकर बाहर नहीं निकाला जाता है। रोहिंग्या मुस्लिमों का मसला गंभीर प्रश्न है, हमें यह देखना होगा कि म्यांमार सरकार ने रोहिंग्या मुसलमान को निष्कासित क्यों किया।

रोहिंग्या जम्मू कश्मीर और हैदराबाद में जाकर बसते हैं उनके आधार कार्ड पैन कार्ड वोटर आई बन गए हैं। इससे ऐसा लगता है कि वह आश्रय लेने नहीं आए बल्कि षड्यंत्र के तहत भारत में आए हैं। रोहिंग्या मुसलमानों को सीमाओं पर ही शरण देना चाहिए और समय रहते हैं उन्हें वापस कर देना चाहिए।

भैयाजी जोशी ने कहा कि बैठक में अगले तीन साल के कार्यक्रमों पर चर्चा हुई है। हमें परिवार व्यवस्था को मजबूत करना है, यह सुचारू रूप से चल सके इसकी जरूरत है। संघ 20 लाख परिवारों तक पहुंचा है। उन्होंने कहा कि किसानों के प्रश्नों को समझकर कृषि निति बनानी चाहिए, हमें नई कृषि निति की जरूरत है। किसानों को कृषि का मूल्य देना चाहिए तभी किसानों की आत्महत्या रुकेगी। संघ सर कार्यवाह ने कहा कि संगठन किसानों के लिए कार्य करेगा।

दीपावली पर पटाखों पर बैन लगाने के विरोध में भैयाजी जोशी ने कहा सभी पटाखे प्रदूषण फैलाने वाले नहीं होते हैं। यह सही बात है कि प्रदूषण फैलाने पर रोक लगनी चाहिए, लेकिन पटाखे आनंद का विषय हैं। कल कोई यह भी सवाल उठा सकता है कि दीपावली पर दीप जलाने से प्रदूषण होता है। भैया जी जोशी ने कहा कि इस मामले पर एक संतुलित समाधान निकालने की जरूरत है। आरक्षण पर भैया जी जोशी ने कहा जिन्हें आरक्षण मिल रहा है वह तय करे कि आरक्षण कब तक लेना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *