अब 10 के सिक्के के साथ किया ऐसा सलूक, तो होगी FIR

रायपुर। दस रुपए का सिक्का बंद होने की अफवाह क्या फैली, छोटे दुकानदारों के साथ बड़े कारोबारियों ने भी सिक्का लेना बंद कर दिया है। लिहाजा अकेले राजधानी में 10 रुपए के 20 लाख के सिक्के जाम हो गए हैं। इन सिक्कों को अब बैंक भी लेने से साफ मना कर रहे हैं।

पिछले दिनों इसकी शिकायत मिलने पर कलेक्टर ओपी चौधरी ने इसे गंभीरता से लिया। उन्होंने ऐसे सिक्के लेने से मना करने वाले दुकानदारों के खिलाफ शिकायत करने की अपील लोगों से की साथ ही एसपी को पत्र लिखकर मामले में एफआईआर दर्ज करने को कहा।

जिले के प्रभारी एसएसपी अकबरराम कोर्राम ने सभी थाना प्रभारियों को इसे गंभीरता से लेने के निर्देश दिए हैं। हालांकि अभी तक ऐसी एक भी शिकायत थाने तक नहीं पहुंची है। इधर बैंक के अधिकारी इस बारे में पूछने पर टालमटोल कर रहे हैं।

केस 1

स्टेशन रोड स्थित एक किराना दुकानदार ने नाम न छापने का आग्रह करते बताया कि दस रुपए के सिक्के पिछले दो-तीन महीने से बाजार में कोई नहीं ले रहा है। ऐसे में छह हजार के सिक्के पड़े हुए हैं। बैंक में जाकर देने पर वहां भी लेने से मना कर दिया। पूछने पर कोई जबाव नहीं मिल रहा। अब इन सिक्कों को रखने की मजबूरी है।

केस 2

स्टेशन चौक में पान ठेला चलाने वाले रिंकू नायक ने बताया कि 10 का सिक्का कोई नहीं ले रहा। सब्जी वाले तक लेने से मना कर रहे हैं। पांच हजार के सिक्के महीनों से घर में बेकार पड़े हैं। बैंक जाकर सिक्के के बदले नोट लेने की कोशिश की तो उन्होंने भी लेने से इंकार कर दिया।

केस 3

कारोबारी ललित जैसिंघ ने कहा कि अफवाह के कारण 10 के सिक्के चलन से बाहर हो रहे हैं। उनके पास 10 से 12 हजार रुपए के सिक्के पड़े हुए हैं। बैंक वालों ने भी लेने से साफ मना कर दिया, ऐसे में रखने के अलावा कोई चारा नहीं है।

दस रुपए के सिक्कों का चलन बंद हुआ है या नहीं, इस बारे में आरबीआई से जानकारी मिल पाएगी। बैंक के पास इसकी कोई अधिकृत जानकारी नहीं है। वैसे भी सिक्के निर्धारित मात्रा में बैंक लेता है और खुद नहीं रखता, बल्कि व्यापारियों को ही वापस लौटा देता है। –ब्रम्ह सिंह, डीजीएम, स्टेट बैंक

आरबीआई के बिना आदेश के अगर दस रुपए के सिक्कों को चलन से बाहर किया जा रहा है तो यह गंभीर है। शिकायत मिलने पर मुद्रा अधिनियम के तहत संबंधित के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।विजय अग्रवाल, एडिशनल एसपी सिटी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *