खाद्य विभाग की पहल-टैबलेट से तुरंत मिलेगी सैंपल की रिपोर्ट

जबलपुर । इस दीवाली से खाद्य विभाग के अफसर टैबलेट से लैस होंगे। फूड सैंपल की मॉनीटरिंग उसी से होगी। इसके पीछे विभाग का मकसद कामकाज में पारदर्शिता लाना है। टैबलेट से सैंपल की रिपोर्ट जल्द मिलेगी। सैंपलिंग में धांधली नहीं हो पाएगी। मिलावटखोरों के खिलाफ खुलकर शिकायतें हो सकेंगी। एंड्राइड मोबाइल और इंटरनेट पर निर्भरता भी खत्म हो जाएगी। अब तक उपभोक्ताओं द्वारा मिलावटखोरों की शिकायत करने के बाद भी कार्रवाई नहीं की जाती थी,इससे उपभोक्ता परेशान होता था कई बार तो उपभोक्ता मिलावटखोरों के खिलाफ उपभोक्ता को उपभोक्ता फोरम भी जाना पड़ता था। लेकिन अब इस व्यवस्था के बाद से रिपोर्ट तुरंत आ जाएगी।जानकारी के अनुसार शासन ने एक अप्रैल 2017 से फूड मॉनीटरिंग नाम का मोबाइल एप लांच किया है। प्रदेश के सभी 51 जिलों में फूड सैंपल की निगरानी इसी से हो रही है। इसमें आ रही दिक्कतों के कारण विभाग चाहता है कि एप से बेहतर व्यवस्था लागू की जाए। इसके चलते ही टैबलेट की व्यवस्था शुरू करने के प्रयास किए जा रहे हैं। मौजूदा सिस्टम में अधिकारी मौके पर पहुंचते ही एप ऑन करते हैं। इसके बाद जिस जगह से सैंपल लिया जा रहा हैं, उस बिल्डिंग की फोटो एप पर अपलोड की जाती है। इसके बाद ए-5 फॉर्म भरा जाता है, जिसमें सैंपल का प्रकार, उसकी मात्रा, व्यापारी का नाम, बैच नंबर, मैन्यूफैक्चरिंग डेट, एक्सपायरी डेट, सामग्री खुले रूप में है या पैकिंग में है। इतना सब करने के बाद सैंपल को सील कर उसकी फोटो भी अपलोड करना पड़ती है। यदि मौके का वीडियो बनाया गया है तो उसे भी एप पर डालना पड़ता है। इस प्रक्रिया में फाइल की साइज बढ़ जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *