3400 लाड़लियों को दीवाली का तोहफा

जबलपुर,यभाप्र। लाड़ली लक्ष्मी योजना के दस साल पूरे होने पर राज्य सरकार आज लाड़ली शिक्षा पर्व मना रही है। इस दौरान जबलपु़र सहित पूरे प्रदेश में कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं। कार्यक्रम के दौरान छठवीं कक्षा में प्रवेश लेने वाली 65 हजार से ज्यादा बालिकाओं को दीवाली के पूर्व दो-दो हजार रुपए छात्रवृत्ति दी गई। मु य कार्यक्रम सीएम हाउस में हुआ।, जिसका आकाशवाणी और दूरदर्शन से सीधा प्रसारण किया गया, जो सभी आंगनबाड़ी, स्कूल और छात्रावासों में देखा व सुना गया। जबलपुर में महिला एवं बाल विकास विभाग के तत्वावधान में लाड़ली शिक्षा पर्व का मु य आयोजन महाकोशल कॉलेज परिसर में सुबह 10ः30 बजे से शुरू हुआ। जिसमें मु य अतिथि के रूप में स्वास्थ्य राज्य मंत्री शरद जैन, विशिष्ट अतिथि के रूप में विधायक अशोक रोहाणी, विधायक अंचल सोनकर, एल बी लोबो मौजूद रहे। कार्यक्रम का शुभारंभ दीप प्रज्जवलन से हुआ। अतिथियों ने सभी 3400 लाड़लियों को कार्यक्रम में औपचारिक रूप से चेक के सर्टिफिकेट दिए गए। महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी मनीष शर्मा ने बताया कि जिले में सरकारी और निजी स्कूलों में पढ़ने वाली 3400 छात्राओं को स्कॉरशिप बैंक खाते में चली गईर्। संचालन श्रीमती अजय जैन और मैडम कविता ने किया। मनीष शर्मा ने बताया कि पांचवीं कक्षा पास कर छठवीं में गईं सरकारी और निजी स्कूलों में पढ़ने वाली जिले की 3400 लाड़लियों को लाड़ली शिक्षा पर्व के तहत आज को 2-2 हजार रुपए के चेक के सर्टीफिकेट प्रदान किए गए । ये सिर्फ उन्हीं छात्राओं को मिले जो लाड़ली लक्ष्मी हैं। यानी जिन अभिभावकों ने अपनी बेटियोंं का नाम लाड़ली लक्ष्मी योजना में रजिस्टर्ड कराया है। उन्हें ही योजना के तहत 2-2 हजार रुपए की स्कॉलरशिप प्रदान की गई। सरकार ने अप्रैल 2007 में लाड़ली लक्ष्मी योजना शुरू की थी। इसे पर्व के रूप में मनाया जा रहा है। सीएम हाउस में होने वाले कार्यक्रम में प्रदेशभर से 1200 लाड़ली लक्ष्मी बुलाई गई हैं, जिन्हें छात्रवृत्ति राशि के चेक दिए गए। इस कार्यक्रम का दूरदर्शन और आकाशवाणी से सीधा प्रसारण किया गया। यह कार्यक्रम प्रदेश के सभी आंगनबाड़ी केंद्र, स्कूल और छात्रावासों में देखा व सुना जा सके, इसलिए टीवी, रेडियो का इंतजाम किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: