प बंगाल पंचायत चुनावों में भाजपा का आश्चर्यजनक प्रदर्शन, पहुंची नम्बर 2 पर

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में हुए पंंचायत चुनाव के नतीजों आने शुरू हो गए हैं। शुरुआती नतीजों में टीएमसी ने 110 पंचायतों पर जीत दर्ज कर ली है और 1208 पर आगे चल रही है। वहीं भाजपा 4 पंचायतें जीत चुकी हैं और 81 पर आगे चल रही है। तीसरे स्थान पर सीपीआई (एम) और चौथे स्थान पर कांग्रेस चल रही है।

इस बीच पूर्व लोक सभा अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी ने राज्य चुनाव आयोग पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग निष्पक्ष चुनाव कराने में नाकाम रहा है, जो लोकतंत्र की हत्या है। सत्ता पर काबिज टीएमसी के 34 फीसद उम्मीदवार पहले ही निर्विरोध चुन लिए गए हैं।

सोमवार को हुए मतदान के दौरान भारी हिसा देखने को मिली थी। इस दिन चुनावी हिसा में 18 लोगों की जान गई थी। जिन जगहों पर आयोग के पास चुनाव में गड़बड़ी की शिकायत मिली थी, उन सभी जगहों में से 572 बूथों पर बुधवार को पुनर्मतदान हुआ। सोमवार की हिसा से सबक लेते हुए इस दिन सुरक्षा के व्यापक बंदोबस्त किए गए थे। यद्यपि कुछ जगहों पर छिटपुट हिसा हुई।

इससे पहले पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में हिसा की वजह से बुधवार को रिकॉर्ड 572 बूथों पर पुनर्मतदान हुआ। झाड़ग्राम को छोड़ 19 जिलों में शाम पांच बजे तक 69 फीसद मत पड़े। राज्य चुनाव आयोग के अनुसार, मतदान के लिए निर्धारित समय के बाद भी विभिन्न जगहों पर 20610 लोग कतार में खड़े थे। लिहाजा मत फीसद में इजाफा संभव है। राज्य चुनाव आयोग के एक अधिकारी ने कहा कि कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान कमोवेश शांतिपूर्ण रहा।

इसे भी पढ़ें-  पूर्व पीएम अटल बिहारी वाजपेयी को AIIMS में कराया गया भर्ती

कुछ बूथों पर हुई अशांति

पुलिस तत्पर दिखी। बावजूद इसके पुनर्मतदान के दौरान भी कुछ बूथों पर अशांति देखने को मिली। मुर्शिदाबाद जिले के फरक्का में एक बूथ पर बमबाजी हुई जिसमें चार लोग जख्मी हो गए। वहीं मालदा जिले के रतुआ में एक बूथ पर अपराधी हथियार के साथ पहुंचे और सरेआम बैलेट बॉक्स उठाकर भाग गए। डरकर चुनाव कर्मी व पीठासीन अधिकारी भी वहां से भाग गए। हालांकि, बाद में पुलिस ने बैलेट बॉक्स बरामद कर लिया।

इसके बाद फिर से मतदान शुरू हुआ। दक्षिण 24 परगना जिले के भांगर में, पुलिस ने कथित तौर पर मतदाताओं को डराने के आरोप में बाइक वाहिनी के कई सदस्यों को गिरफ्तार किया। उत्तर दिनाजपुर जिले के गोलपोखर में बूथ नंबर-बूथ नंबर- 36/37 पर रैपिड एक्शन फोर्स (आरएएफ) और पुलिस ने लोगों पर लाठी चार्ज किया। पुलिस की तरफ से यह लाठी चार्ज भीड़ को नियंत्रित करने के लिए किया गया।

इसे भी पढ़ें-  ईद विशेष, सद्भाव की Good News यहां हिंदू धर्मावलंबी भी रखते हैं रोजे, कौमी एकता की मिसाल है ये जगह

रेल लाइन के किनारे मिला पीठासीन अधिकारी का शव

सोमवार को मतदान के दिन से लापता पीठासीन अधिकारी का शव उत्तर दिनाजपुर जिले में रेलवे लाइन के किनारे मिला। राज कुमार राय (33) का शव मंगलवार रात रेलवे ट्रैक के किनारे सोनादंगी इलाके से मिला। हालांकि मौत के वजहों का पता नहीं चल सका है। बताया जाता है कि पोस्टमॉर्टम के बाद ही मौत के कारण का पता चलेगा। मामले में तत्परता के साथ जांच करने की मांग को लेकर चुनाव कर्मियों ने दो घंटे तक रायगंज-कालियागंज मार्ग को जाम कर रखा। हालांकि राज्य चुनाव आयोग की ओर से कहा गया है कि मृत्यु चुनाव हिंसा से संबंधित नहीं भी हो सकता है।

पुनर्मतदान, बूथ चयन पर विपक्ष ने खड़ा किया सवाल

पुनर्मतदान के लिए राज्य चुनाव आयोग (एसइसी) की ओर से चयनित बूथों पर विपक्ष ने सवाल खड़ा किया। माकपा विधायक दल के नेता सुजन चक्रवर्ती ने कहा कि एसइसी ने उन बूथों पर ही पुनर्मतदान कराया जहां तृणमूल को वोट लूटने का मौका नहीं मिला था। उन्होंने कहा कि उन्हीं बूथों पर रिपोलिंग के आदेश दिए गए जहां टीएमसी उम्मीदवार चुनाव हार सकते हैं। उधर, भाजपा ने कहा कि पार्टी की ओर से राज्यभर में 2,300 बूथों पर पुनर्मतदान की मांग की गई थी लेकिन 572 बूथों पर ही मतदान कराए गए। प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि रिपॉल में भी हिंसा देखने को मिली लेकिन कुछ स्थानों पर पुलिस ने तेजी से काम किया। हमने 2,300 बूथों में दोबारा मतदान कराने की मांग की थी।

इसे भी पढ़ें-  पेट्रोल डीजल कीमतों ने उड़ाई सरकार की नींद, जल्द मिलेगी राहत

तृणमूल ने मतदान को बताया निष्पक्ष

सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्र्रेस ने एसइसी द्वारा आयोजित निष्पक्ष चुनाव पर संतोष व्यक्त किया। पार्टी महासचिव व राज्य के शिक्षा मंत्री पार्थ चटर्जी ने कहा कि लोगों ने स्वतंत्र रूप से भारी तादाद में वोट दिया है। विपक्ष का कोई आधार नहीं है। वे कुछ राजनीतिक पॉइंट्स हासिल करने के लिए बेवजह परेशानी पैदा करना चाहते थे।

इन जिलों में हुआ पुनर्मतदान

हुगली जिले के 10, पश्चिम मेदिनीपुर के 29, जलपाईगुड़ी के 5, कूचबिहार में 52, मुर्शिदाबाद के 63, पुरुलिया के 7, नदिया के 60, दक्षिण दिनाजपुर के 35, पश्चिम बर्द्धमान के 3, उत्तर 24 परगना के 59, मालदा के 55, उत्तर दिनाजपुर के 73, वीरभूम के 6, बांकुड़ा के 5, उत्तर दिनाजपुर के 73, दक्षिण 24 परगना के 29, पूर्व मेदिनीपुर के 24, अलीपुरदुआर के दो पूर्व बर्द्धमान के 17 और हावड़ा के 38 मतदान केंद्रों पर पुनर्मतदान हो रहा है।

Leave a Reply