बाल-बाल बचीं हेमा मालिनी, आंधी-तूफान में काफिले के आगे अचानक गिरा पेड़

मथुरा: उत्तर प्रदेश के मथुरा लोकसभाक्षेत्र से भाजपा सांसद हेमा मालिनी उस समय बाल-बाल बच गईं जब आंधी-तूफान की वजह से एक पेड़ अचानक उनके काफिले के आगे गिर गया। यह घटना उस समय हुई जब हेमा मालिनी एक गांव में सभा को संबोधित करके लौट रही थीं। गनीमत रही कि खराब मौसम को देखते हुए सतर्क होकर वाहन चला रहे उनके चालक ने पेड़ से टकराने से पहले ही ब्रेक लगाकर गाड़ी को नियंत्रित कर लिया। उसके बाद सांसद के सुरक्षाकर्मियों एवं कार्यकर्ताओं ने मिलकर पेड़ हटाकर रास्ता साफ किया।
Yashbharat

पार्टी कार्यकर्ताओं के अनुसार भाजपा सांसद हेमा मालिनी मांट तहसील के मिट्ठोली गांव में जनसभा करने वाली थीं। वे भाजपा सरकार की चौथी वर्षगांठ से पहले वहां ग्रामीण जनता को मोदी के ‘सबका साथ, सबका विकास’ के नारे का संदेश देने गई थीं। हालांकि जब वे सभा को संबोधित कर ही रही थीं, तभी मौसम तेजी से बिगड़ने लगा।
Yashbharat
मौसम बदलते देख भाजपा सांसद ने सभा छोड़कर वापस लौटने का फैसला किया। हालांकि वे कुछ ही किलोमीटर पहुंची थीं कि उनके काफिले के आगे एक पेड़ आ गिरा। उनकी गाड़ी उससे टकराने से बच गई। बाद में, भाजपा कार्यकर्ताओं एवं सुरक्षाकर्मियों ने मिलकर भारी पेड़ रास्ते से हटाया। इस बीच, उन्हें करीब आधा घंटा बीच सड़क पर बिताना पड़ा।

Leave a Reply