पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव: हिंसा में 11 की मौत और 50 से ज्यादा घायल

नई दिल्ली: पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में हो रही वोटिंग के दौरान बड़े पैमाने पर हिंसा हुई जिसमें अब तक 11 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि अलीपुर द्वार में पांच पत्रकार घायल हो गए हैं। स्थानीय लोगों के अनुसार वो लोग मतदान करने के लिए गए थे लेकिन इस बीच टीएमसी के समर्थकों ने उन पर हमला कर दिया। सभी घायलों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है। ममता बनर्जी के मंत्री रवींद्र नाथ घोष ने खुद के द्वारा मारपीट किए जाने के मामले में सफाई देते हुए कहा भाजपा का एजेंट बैलेट बॉक्स लेकर भागना चाह रहा था। अधिकारियों ने उसे पकड़ लिया लेकिन लोगों ने कहा भागने दो। मैंने अपने हाथ का उपयोग कर लोगों को दूर किया, टीएमसी किसी पर हमला नहीं करती है। इससे पहले राज्य के कूच बिहार में हुई झड़प में 50 से ज्यादा लोग घायल हो गए वहीं कई वाहनों को नुकसान पहुंचा है।
Yashbharat

17 मई को होगी मतगणना
इस चुनाव की मतगणना 17 मई को होगी। 2019 में बोने वाले लोकसभा चुनावों के पहले ये सबसे बड़ा और आखिरी चुनाव है। इस चुनाव के लिए लंबी कानूनी लड़ाई लड़ी गई थी जिसके बाद आज इसे कड़ी सुरक्षा में शुरू किया गया। इस चुनाव के लिए 1500 सुरक्षकर्मी तैनात किए गए हैं। पंचायत चुनाव को लेकर भारी प्रचार किया गया था। नामांकन के समय काफी हिंसा हुई थी और विपक्ष ने इसका आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगा था। वहीं इन आरोपों के बीच पार्टी का य कहना था कि विपक्ष चुनाव से बचने के लिए इस तरह के आरोप लगा रहा है।
Yashbharat
चुनाव के लिए के लिए तैनात किए गए हैं 1500
इस चुनाव के लिए 1500 सुरक्षकर्मी तैनात किए गए हैं। पंचायत चुनाव को लेकर भारी प्रचार किया गया था। नामांकन के समय काफी हिंसा हुई थी और विपक्ष ने इसका आरोप तृणमूल कांग्रेस पर लगा था। वहीं इन आरोपों के बीच पार्टी का कहना था कि विपक्ष चुनाव से बचने के लिए इस तरह के आरोप लगा रहा है।
Yashbharat
मुर्शीदाबाद में वोटिंग थमी
मुर्शीदाबाद में बीजेपी और टीएमसी कार्यकर्ताओं में झड़प इस हद तक बढ़ गई कि बैलट पेपर ही तालाब में फेंक दिए गए। विवाद बढ़ने पर वोटिंग रोक दी गई। उधर, बीरपाड़ा के मदारीहाट में कथित टीएमसी कार्यकर्ताओं ने बैलट में हेरफेर करने की कोशिश की।

Leave a Reply