यहां कूड़े की तरह पड़े हैं सैकड़ों आधारकार्ड, लोगों को खुद ढूंढना पड़ता है अपना कार्ड

नौगांव। इन दिनों आधारकार्ड सभी के लिए अति आवश्यक घोषित कर दिया गया है। बावजूद इसके आधार कार्ड के वितरण में डाक विभाग द्वारा गंभीर अनियमितताएं बरत रहा है। डाकघर में सैकड़ों की संख्या में आधारकार्ड कूड़े के ढेर की तरह पड़े हुए हैं। डाकघर के अंदर घुसते ही एक कोने में सैकड़ों आधारकार्ड पड़े दिखाई देते हैं। अक्सर लोगों को इसी ढेर में से अपने नाम का आधारकार्ड खोजते हुए देखा जाता है।

यहां बता दें कि नौगांव के डाकघर में डाक वितरण के लिए तीन पोस्टमैन पदस्थ हैं लेकिन वे कार्य के प्रति इतने लापरवाह हैं कि आधारकार्ड बांटने की फुर्सत ही नहीं है। बड़ी संख्या में ऐसे लोग हैं जिनके कई काम आधारकार्ड न होने से अटके पड़े हैं।

लोगों की शिकायत है कि कार्ड बनकर आने के बावजूद पोस्टमैनों ने निर्धारित पते पर नहीं पहुंचाते हैं और डाकघर के कोने में कूड़े के ढेर की तरह पड़े-पड़े आधारकार्ड गायब हो जाते हैं। सूत्रों की मानें तो बड़ी संख्या में आधारकार्डों को काफी पहले जलाया भी गया है। इस पूरे मामले में लोगों ने गहरी आपत्ति जताते हुए जांच और कार्रवाई की मांग भी की है। इस संबंध में जब डाकघर प्रभारी से बात करने की कोशिश की गई तो वे बात करने को तैयार नहीं हुए।

इनका कहना है

शिक्षा, बैंकिंग और पहचान सहित अन्य योजनाओं के लिए आधारकार्ड अनिवार्य किए गए हैं। डाकघर नौगांव में आने वाले आधारकार्डों को वितरित नहीं किया जाना लोगों के लिए बड़ी परेशानी है। ऐसे में वे कई तरह से अपने अधिकार और योजनाओं का लाभ लेने से वंचित बने हैं। इस संबंध में कड़ी कार्रवाई करना जरूरी है – दयाराम पाठक, शासकीय अधिवक्ता, नौगांव

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *