कांग्रेस नेता के रिश्तेदार के यहां लोकायुक्त का छापा, पार्टी ने बताया बदले की कार्रवाई

भोपाल। मध्य प्रदेश के इंदौर शहर में लोकायुक्त पुलिस की टीम ने बड़ी कार्रवाई की है. लोकायुक्त पुलिस ने आय से अधिक संपत्ति मामले में पराक्रम सिंह के निवास और अन्य ठिकानों पर दबिश दी है. पराक्रम सिंह के घर चल रही कार्रवाई को कांग्रेस ने साजिश बताया है. कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल ने कहा है कि प्रदेश सरकार बदले की कार्रवाई के तहत ऐसा कर रही हैं.

पराक्रम सिंह के निवास और कई ठिकानों पर छापे की कार्रवाई पर कांग्रेस नेता मानक अग्रवाल का कहना है कि जिस तरह से छापा पड़ा है उसमें सरकार की सोची समझी साजिश नजर आ रही है.

इसे भी पढ़ें-  श्री गंगानगर में ट्रैक्‍टर प्रतियोगिता के दौरान हादसा, 8 की मौत, 200 घायल

बता दें कि पराक्रम सिंह कांग्रेस के दिवंगत नेता महेंद्र सिंह कालूखेड़ा के रिश्तेदार हैं, और कांग्रेस मानती है कि बीजेपी सरकार कांग्रेस से बदला लेने के लिए ऐसा कर रही है. हालांकि मानक अग्रवाल का कहना है कि लोकायुक्त संस्था कार्रवाई के लिए स्वतंत्र है, इसपर कांग्रेस को आपत्ति नहीं है.

दरअसल,  इंदौर लोकायुक्त एसपी दिलीप सोनी को शिकायत मिली कि पराक्रम सिंह ने अपने कम समय के कार्यकाल में करोड़ो रूपए की बेनामी सम्पत्ति जुटा ली है. सोनी के निर्देश पर आधा दर्जन टीमें गठित की गई. एसपी के नेतृत्व में टीम ने शुक्रवार सुबह चंद्रावत के स्कीम नं. 74 स्थित आलीशान बंगले पर छापा मारा.

इसे भी पढ़ें-  राजस्थान, MP और छत्तीसगढ़ पर कांग्रेस की निगाहें, हाथी-हाथ का गठबंधन होगा ‘गेमचेंजर’

डीएसपी बघेल के नेतृत्व में टीम ने पराक्रम सिंह चंद्रावत के पैतृक गांव, धार और इंदौर के तीन अन्य स्थानों पर एक साथ छापामार कार्रवाई की. आधा दर्जन स्थानों पर कार्रवाई के दौरान लोकायुक्त अधिकारी उस वक्त हैरत में पड़ गए जब प्रारंभिक जांच पड़ताल में ही चंद्रावत, पत्नी और बच्चों के नाम करोड़ो की संपत्ति के दस्तावेज मिले.

एसपी दिलीप सोनी ने बताया कि स्कीम नंबर 74 स्थित बंगले की कीमत 2 करोड़ से अधिक की है. जांच के दौरान सोने-चांदी के जेवरात, विभिन्न बैंको की पासबुक, कृषि भूमि के दस्तावेज और अन्य सरकारी योजनाओं में किए गए निवेश के दस्तावेज मिले हैं जिसकी जांच-पड़ताल की जा रही है.

Leave a Reply