कांग्रेस अधिवेशन के मंच पर नहीं दिखीं पुराने नेताओं की तस्वीरें

नई दिल्ली: कांग्रेस महाधिवेशन में पहली बार मंच के पीछे पार्टी के पुराने नेताओं की तस्वीरें नहीं लगाई गईं तथा मंच पर कोई नेता आसीन नहीं था। यहां इंदिरा गांधी इंडोर स्टेडियम में चल रहे पार्टी के 84वें महाधिवेशन में इस बार सभागार के अंदर सिर्फ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की तस्वीरें और पार्टी का चुनाव चिह्न पंजा दिखाई दिया। इससे पहले महाधिवेशनों में मंच के पीछे पार्टी के पुराने नेताओं की तस्वीरें रहती थीं तथा मंच पर वरिष्ठ नेता विराजमान रहते थे। सभागार में हर तरफ पोस्टर लगे थे जिन पर लिखा है,‘वक्त है बदलाव का चेंज इस नाऊ।’ पार्टी कार्यकर्त्ताओं ने सफेद वस्त्र पहन रखे थे और गांधी टोपी भी लगा रखी थी।

इसे भी पढ़ें-  गुजरात निकाय चुनावों में BJP को बढ़त पर कांग्रेस दे रही कड़ी टक्कर

पार्टी की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी जब संबोधन के लिए खड़ी हुईं तो कार्यकर्त्ताओं ने खड़े होकर उनका स्वागत किया। पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी का उद्धाटन भाषण बहुत ही संक्षिप्त था। गांधी ने अपने संबोधन में कहा कि वह अभी तो संक्षेप में अपनी बात रख रहे हैं, बाद में विस्तार से बोलेंगे। अन्य वक्ताओं से भी अपनी बात रखने में समय का ध्यान रखने की अपील की गई। गांधी के संबोधन से पहले मीडिया की सीटें खाली थीं और इन्हें भरने के लिए कार्यकर्त्ताओं को बैठा दिया गया। इसे लेकर पार्टी के संचार विभाग के लोगों और सेवादल के कार्यकर्ताओं के बीच कहासुनी भी हुई। एक युवा कार्यकर्ता पूरे सभागार में घूम-घूमकर पार्टी का विशाल झंडा लहरा रहा था और वह लोगों के आकर्षण का केंद्र बना था।

Leave a Reply