अब कामायनी के शौचालय में मिली महिला की लाश

कटनी। भोपाल से रीवा के बीच सप्ताह में एक दिन कटनी होकर चलने वाली भोपाल-रीवा स्पेशल ट्रेन के विकलांग कोच के शौचालय में एक वृद्ध महिला यात्री की लाश फांसी के फंदे पर लटकती हुई मिलने के मामले की अभी रेलपुलिस जांच भी पूरी नहीं कर पाई थी कि आज सुबह लोकमान्य तिलक टर्मिनस से बनारस के बीच प्रतिदिन कटनी होकर चलने वाली कामायनी एक्सप्रेस की शयनयान बोगी क्रमांक-3 के शौचालय में एक अन्य 60-65 वर्षीय महिला की संदिग्ध परिस्थितियों में लाश बरामद होने से रेलवे में हड़कंप मच गया।ट्रेन के कटनी पहुंचते ही एक जीआरपी-आरपीएफ सहित रेलवे के आला अधिकारी मौके पर पहुंच गए और शौचालय का दरवाजा तोड़कर महिला के शव को बाहर निकालकर उसे परीक्षण के लिए जिला चिकित्सालय भिजवाया। महिला की शिनाख्त नहीं हो सकी है। रेल पुलिस मर्ग कायम कर इस घटना की भी जांच में जुट गई है। बहरहाल घटना के संबंध में रेलसूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक लोकमान्य तिलक टर्मिनस से बनारस के बीच कटनी होकर प्रतिदिन चलने वाली गाड़ी संख्या 11071 के शयनयान कोच क्रमांक एस-3 का एक शौचालय कटनी पहुंचने के पूर्व ही काफी देर से नहीं खुल रहा था। बोगी में सवार कई यात्रियों ने शौचालय को कई बार नॉक किया लेकिन वह अंदर से नहीं खुला। बताया जाता है कि आज सुबह 10 बजे के लगभग ट्रेन के कटनी पहुंचने पर यात्रियों ने शौचालय का दरवाजा न खुलने की शिकायत स्टेशन प्रबंधन से की। जिसके बाद स्टेशन प्रबंधन सहित जीआरपी व आरपीएफ प्लेटफार्म क्रमांक 3 पर खड़ी कामायनी एक्सप्रेस की एस-3 बोगी में पहुंचकर दरवाजा खोलने के प्रयास करने लगे लेकिन जब दरवाजा नहीं खुला तो उसे तोड़ दिया। बताया जाता है कि शौचालय का दरवाजा तोड़ने पर अंदर एक 60 से 65 वर्षीय अज्ञात महिला का शव संदिग्ध परिस्थितियों में पड़ा मिला। जिसे रेल पुलिस ने अपने अधिकार में ले लिया और ट्रेन में सवार यात्रियों के बीच उसकी शिनाख्तगी के प्रयास किए परंतु महिला की शिनाख्त नहीं हो सकी। वहीं महिला की मौत कैसे तथा किन परिस्थितियों में हुई। इस बात का खुलासा भी नहीं हो सका है। प्लेटफार्म पर मामले से जुड़ी प्रारंभिक औपचारिकताएं पूरी करने के बाद रेल पुलिस ने महिला के शव को परीक्षण के लिए जिला चिकित्सालय भिजवाया और मर्ग कायम कर मामले की गंभीरता से जांच करते हुए पहले महिला की शिनाख्तगी के प्रयास कर रही है। गौरतलब है कि अभी चार दिन पूर्व रविवार को गाड़ी संख्या 02196 भोपाल-रीवा स्पेशल ट्रेन में इंजन के ठीक बाद वाले विकलांग कोच के शौचालय में एक वृद्ध महिला यात्री की लाश फांसी के फंदे पर लटकी हुई बरामद की गई थी। बताया जाता है कि स्पेशल ट्रेन के शौचालय में फांसी लगाने वाली वृद्ध महिला के मामले में अभी रेल पुलिस को शिनाख्तगी करने में भी सफलता नहीं मिली थी कि आज कामायनी एक्सप्रेस के शौचालय में भी एक अन्य अज्ञात महिला की लाश मिलने से रेल पुलिस के कान खड़े हो गए हैं। रेल पुलिस पिछली घटना के साथ ही अब इस नए मामले की भी गंभीरता से जांच करने में जुट गई है तथा सबसे पहले महिला की शिनाख्तगी के प्रयास किए जा रहे हैं।
नहीं हो सकी शिनाख्त
रेल पुलिस के मुताबिक कामायनी एक्सप्रेस के शयनयान कोच क्रमांक एस-3 के शौचालय से संदिग्ध परिस्थितियों में बरामद महिला की लाश की शिनाख्त के मौके पर प्रयास किए गए लेकिन उसकी शिनाख्त नहीं हो सकी है। महिला के पास से ऐसी कोई दस्तावेज नहीं मिले जिससे उसकी शिनाख्त हो सके। मामले में मर्ग कायम कर महिला के संबंध में जानकारी जुटाने के प्रयास किए जा रहे हैं।
घंटों कटनी में खड़ी रही ट्रेन
ट्रेन के शौचालय में महिला की लाश होने की जानकारी लगने के बाद ट्रेन को लगभग एक घंटे तक कटनी में रोककर रखा गया। बताया जाता है कि शौचालय का दरवाजा अंदर से बंद होने के कारण पहले तो उसे साधारण तरीके से खोलने के प्रयास किए लेकिन जब वह नहीं खुला तो दरवाजा तोड़कर महिला की लाश को बाहर निकाला गया। इस प्रक्रिया में लगभग एक घंटे का समय लगा। जिसके कारण ट्रेन लगभग एक घंटे तक प्लेटफार्म पर खड़ी रही।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *