युवक की नृशंस हत्या के बाद नदी में लाश फेंक फरार हुए दोस्त

कटनी(विवेक शुक्‍ला)। कोतवाली के मदन मोहन चौबे वार्ड में धाऊ चक्की के पास देररात शराब खोरी के बाद दोस्तों के बीच हुए विवाद में एक 32 वर्षीय युवक की सिर पर चीप पटक कर नृशंस हत्या कर दी गई। उसे दोस्तों ने ही नृशंसता पूर्वक मौत के घाट उतारा और लाश को घसीटकर कटनी नदी में फेंक कर फरार हो गए। वारदात की सूचना मिलते ही पुलिस सक्रिय हुई और लाश को अपने अधिकार में लेकर उसे परीक्षण के लिए जिला अस्पताल में रखवाया। जहां आज सुबह शवपरीक्षण के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। पुलिस ने आरोपित दोस्तों के विरूद्ध हत्या का मामला दर्ज कर उन्हे हिरासत में ले लिया है। वारदात के संबंध में जानकारी देते हुए कोतवाली प्रभारी शैलेष मिश्रा ने बताया कि उपनगरीय क्षेत्र मंगलनगर निवासी 32 वर्षीय मोनू पिता जर्नादन यादव कलरात 10 बजे के लगभग धाऊ चक्की के पास अपने दोस्तों क्रमशः मनोज ठाकुर व पप्पू केवट के साथ बैठकर शराब पी रहा था। शराब खोरी के दौरान ही किसी बात को लेकर मोनू यादव का पप्पू केवट व मनोज ठाकुर से विवाद हो गया। जिसको लेकर शराब के नशे में मोनू यादव पप्पू व मनोज से गाली गलौज करने लगा। मोनू के द्धारा लगातार की जा रही गाली गलौज से आक्रोशित होकर पप्पू व मनोज ने उसके साथ बुरी तरह मारपीट करने लगे और फिर बाद में मोनू के सिर पर वजनी चीप पटककर उसकी नृशंस हत्या कर दी। मोनू को बेरहमीपूर्वक मौत के घाट उतारने के बाद उसकी लाश को घटनास्थल से घसीटकर कटनी नदी में फेंक कर वहां से फरार हो गए। बताया जाता है कि कुछ ही देर में मोनू की हत्या होने की जानकारी परिजनों को लग गई और वो घटनास्थल पहुंच गए तथा इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना मिलते ही कोतवाली प्रभारी शैलेष मिश्रा अपने हमराह स्टाफ के साथ मौके पर पहुंच गए तथा पंचनामा कार्रवाई के बाद मोनू के शव को परीक्षण के लिए जिला चिकित्सालय भिजवाया। जहां आज सुबह शवपरीक्षण के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया। कोतवाली प्रभारी श्री मिश्रा ने मोनू के आरोपित दोस्तों पप्पू केवट व मनोज ठाकुर के विरूद्ध हत्या का मामला दर्ज कर उन्हे हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।
नदी तैर कर भागे आरोपी दोस्त
एक जानकारी में पुलिस सूत्रों ने बताया कि शराबखोरी के विवाद के बाद अपने ही दोस्त मोनू यादव को नृशंसता पूर्वक मौत के घाट उतारने के बाद पप्पू केवट व मनोज ठाकुर उसकी रक्तरंजित लाश को घसीटकर कटनी नदी किनारे फेंकने के बाद नदी तैर कर दूसरी ओर पहुंचे और वहां से फरार हो गए।
नानी के यहां सोते मिले आरोपी
कोतवाली प्रभारी शैलेष मिश्रा ने बताया कि नदी तैर कर भागने के बाद पप्पू केवट साथी मनोज ठाकुर को अपनी नानी के यहां लेकर पहुंचा। श्री मिश्रा ने बताया कि दोनों काफी नशे में थे। इसलिए दोनों नानी के यहां एक खंडहर मकान में जाकर सो गए। जिन्हे पुलिस ने दबिश देकर हिरासत में ले लिया।
दबिश के दौरान आरक्षकों को मिली सफलता
पुलिस सूत्रों ने बताया कि वारदात के बाद पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रमोद सोनकर व नगर पुलिस अधीक्षक शशिकांत शुक्ला के मार्गदर्शन में कोतवाली प्रभारी शैलेष मिश्रा अपने हमराह स्टाफ आरक्षक अजय दुबे, के.के.शुक्ला, दीपक तिवारी व रवीन्द्र दुबे के साथ मिलकर आरोपियों को गिरफ्त में लेने रातभर हर संभावित स्थान पर दबिश देते रहे। जिसके कारण रात में ही पुलिस को आरोपियों को गिरफ्तार करने में सफलता मिल गई और आरोपी पुलिस के हत्थे चढ़ गए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *