रोबोट बने किसान, बिना इंसानी मदद के उगाई पांच टन जौ

लंदन। दफ्तरों और कारखानों में रोबोट के काम करने की बात पुरानी हुई अब तो रोबोट खेती भी करने लगे हैं। ब्रिटिश वैज्ञानिकों की देखरेख में रोबोट ने खेती भी शुरू कर दी है। प्रायोगिक तौर पर ही सही रोबोट्स ने पांच टन जौ की फसल उगाई है।

सबसे अहम चीज है कि इस काम में इंसानों ने कुछ भी नहीं किया, बुवाई, कटाई, नमूने एकत्र करना आदि सभी काम रोबोटिक मशीनों द्वारा किया गया।

खाद्य संकट से निपटने में मिलेगी मदद-

ब्रिटेन के हार्पर एडम्स विवि के शोधकर्ताओं को उम्मीद है कि रोबोटिक तकनीक से कृषि की पैदावार बढ़ाई जा सकती है। इसके जरिए दुनिया में तेजी से बढ़ रही आबादी के सामने पैदा हुए खाद्य संकट से निपटा जा सकता है। इस मानव रहित खेती के लिए शोधकर्ताओं ने व्यावसायिक मशीनों और ड्रोन्स को सॉफ्टवेयर से नियंत्रित किया।

हार्पर एडम्स यूनिवर्सिटी में मेकाट्रोनिक्स के शोधकर्ता और इस प्रोजेक्ट के प्रमुख जोनाथन गिल के मुताबिक, वास्तव में खेती में कोई भी स्वायत्तता की समस्या को हल करने में सफल नहीं हो सका है।

इसके लिए शोधकर्ताओं ने खेती में प्रयोग होने वाली बहुत सी छोटी मशीनों को खरीदा। इसमें एक ट्रैक्टर और फसल उगाने वाली विशेष मशीन शामिल है।

जीपीएस से जोड़े गए वाहन-

लाइव साइंस में प्रकाशित इस अध्ययन के मुताबिक, शोधकर्ताओं ने इन मशीनों को प्रवर्तक, इलेक्ट्रॉनिक्स और रोबोटिक्स टेक्नोलॉजी के जरिए फिट किया। यह तकनीक मनुष्यों की अनुपस्थिति में इन मशीनों को नियंत्रित करने में सक्षम है।

यूनिवर्सिटी के साथ इस प्रयोग में साझेदार एक कृषि कंपनी प्रेसिजन डिसीजंस के मार्टिन एबेल के मुताबिक, सभी वाहन जीपीएस से जोड़े गए और हमारे द्वारा तैयार किए गए पूर्व निर्धारित स्थानों पर ही पहुंचे।

वहीं, जीपीएस के जरिए दूसरे कार्य के लिए डिजाइन की गईं मशीनों ने ही हमारे निर्देशों के तहत ही काम किया।हार्पर एडम्स की टीम ने इसके जरिये जौ की खेती की। अब वे अपने साझेदारों के साथ इस प्रोजेक्ट को बांट कर बड़े स्तर पर खेती करने की तैयारी में हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *